जाल से निकालने की कोशिश

Image caption इंटरनेट दक्षिण कोरिया की नई पीढ़ी में जीवनशैली का हिस्सा है

इंटरनेट की लत से लोगों को मुक्ति दिलाने के लिए दक्षिण कोरिया की सरकार एक अनूठा सॉफ्टवेयर उपलब्ध कराने जा रही है.

इस सॉफ्टवेयर की ख़ासियत ये है कि एक तय समय के बाद यह लोगों को इंटरनेट का इस्तेमाल नहीं करने देता.

दक्षिण कोरिया में लोगों को इंटरनेट की लत से छुटकारा दिलाने के लिए विशेष अभियान चलाया जा रहा है जिसमें विशेषज्ञ के साथ काउंसलिंग सर्विस भी शामिल है.

यह सॉफ्टवेयर लैपटॉप और डेस्कटॉप दोनों के लिए अगले वर्ष से उपलब्ध होगा. अगर आपको लगता है कि आप दिन में सिर्फ़ तीन घंटे ही इंटरनेट का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो यह सॉफ्टवेयर तीन घंटे के बाद अपने आप इंटरनेट कनेक्शन को ऑफ़ कर देगा.

दक्षिण कोरिया की सरकार कंप्यूटर गेम डिज़ाइन करने वालों से भी आग्रह कर रही है कि वे अपने गेम को इस तरह बनाएँ कि लोगों को उसकी लत न लगे, मिसाल के तौर पर गेम धीरे-धीरे इतने कठिन हो जाएँ कि हार मानकर उन्हें छोड़ना पड़े.

एक अनुमान के मुताबिक़ देश में लगभग बीस लाख लोग कमोबेश इंटरनेट की लत के शिकार हैं.

दक्षिण कोरिया की सरकार को इस तरह के क़दम इसलिए उठाने पड़े हैं क्योंकि इंटरनेट के ज़रूरत से अधिक इस्तेमाल की ऐसी ख़बरें सुनने को मिल रही हैं जिन्होंने लोगों को चिंता में डाल दिया है.

इस महीने की शुरूआत में दक्षिण कोरियाई समाज में बहुत बड़े पैमाने पर इंटरनेट के इस्तेमाल को लेकर बहस छिड़ गई. एक युवा दंपति ने अपने नवजात शिशु को लंबे समय तक भूखा रखकर मार डाला क्योंकि वे एक इंटरनेट गेम खेलने में व्यस्त रहते थे जिसमें वे एक काल्पनिक बच्चे की देखभाल कर रहे थे.

इसी तरह एक नौजवान ने अपनी माँ को इसलिए मार डाला क्योंकि उसकी हर समय इंटरनेट पर लगे रहने की आदत से परेशान हो चुका था.

विशेषज्ञों का कहना है कि इस तरह की कोशिशों से बहुत सीमित कामयाबी ही मिल सकती है क्योंकि व्यक्ति की ख़ुद की ज़िम्मेदारी है कि वह अपने समय का इस्तेमाल किस तरह करता है.

संबंधित समाचार