प्रधानमंत्री के आवास पर ख़ून बहाया गया

ख़ून बहाकर प्रदर्शन
Image caption प्रदर्शनकारियों मौजूदा सरकार को ग़ैर-कानूनी मानते हैं

थाइलैंड में सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों ने बैंकॉक में प्रधानमंत्री अभिसित विजयजीवा के सरकारी आवास के बाहर अपना ख़ून बहाकर विरोध प्रदर्शन किया है.

इससे पहले मंगलवार को भी प्रदर्शनकारियों ने गर्वनमेंट हाउस और सत्ताधारी डेमोक्रेट पार्टी के मुख्यालय के बाहर ख़ून बहाकर प्रदर्शन किया था.

बुधवार को विरोध प्रदर्शन से पहले हज़ारो प्रदर्शनकारी रक्तदान के लिए इक्टठा हुए.

'रेड शर्ट' के नाम से पहचाने जाने वाले प्रदर्शनकारियों का कहना है कि मौजूदा सरकार ग़ैर-कानूनी है और उसे सत्ता में रहने का कोई हक़ नहीं है. ये प्रदर्शनकारी पिछले चार दिनों से भारी विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं.

कड़े सुरक्षा इंतज़ामों के बीच 'रेड शर्ट' प्रदर्शनकारियों को प्रधानमंत्री निवास पर सांकेतिक रुप में ख़ून बहाने की इजाज़त दी गई.

ख़ून बहाए जाने के तुरंत बाद उसे साफ़ कर दिया गया, ताकि संक्रमण से बचा जा सके.

टकराव

Image caption प्रदर्शनकारी जिनमें अनेक पूर्व प्रधानमंत्री टकसिन के समर्थक हैं, चुनाव चाहते हैं.

प्रदर्शनकारियों और सुरक्षाकर्मीयों के बीच टकराव की संभावना जताई जा रही है.

प्रदर्शनकारी, जिनमें अनेक पूर्व प्रधानमंत्री टकसिन चिनावट के समर्थक माने जाते हैं, देश में ताज़ा चुनाव की मांग कर रहे हैं.

एक प्रदर्शनकारी नेता नाटहावट साईकुआ का कहना था, "आम आदमी का खू़न एक होकर लोकतंत्र के लिए लड़ रहा है."

सरकारी आवास पर ना ही प्रधानमंत्री अभिसित विजयजीवा मौजूद हैं और ना ही उनके परिवार के सदस्य.

विरोध प्रदर्शनों के बाद से ही प्रधानमंत्री अभिसित कड़ी सुरक्षा के बीच 11वीं इन्फंट्री बटालियन के मुख्यालय में रह रहे हैं.

विरोधियों और सरकार के बीच ये टकराव 2006 से जारी है जब सैनिक तख़्तापलट कर टकसिन चिनावट को सत्ता से बेदख़ल कर दिया गया था.

संबंधित समाचार