हेडली मामले में झटका नहीं:चिदंबरम

गृह मंत्री पी चिदंबरम ने कहा है कि डेविड हेडली और अमरीका के बीच जो समझौता हुआ है उससे भारत को कोई झटका नहीं लगा है क्योंकि इसके बाद अमरीकी न्यायिक प्रकिया के ज़रिए भारत हेडली से बात कर पाएगा.

गृह मंत्री ने कहा कि भारत 49 वर्षीय हेडली के प्रत्यर्पण को लेकर अनुरोध करता रहेगा और सही समय आने पर मुंबई हमलों में आरोप तय करेगा.

पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने माना कि हेडली का प्रत्यर्पण आसान नहीं होगा क्योंकि उन्होंने भारत और अमरीका दोनों जगह ग़ुनाह किया है.

गृह मंत्री ने कहा, "मुंबई हमलों में छह अमरीकी नागरिक भी मारे गए थे. ये अमरीका का हक़ बनता है कि वो हेडली के ख़िलाफ़ मुकदमा चलाए. मुझे पहले से ही पता था कि प्रत्यर्पण को लेकर समस्या आएगी."

चिदंबरम ने कहा कि इस बात के आसार हैं कि हेडली अमरीकी कोर्ट में गवाही देगा जहाँ भारतीय अधिकारियों के पास मौका होगा कि वे सवाल पूछ सकें.

उनका कहना था कि हेडली मामले की जाँच के दौरान अमरीका ने भारत को अहम जानकारियाँ दी हैं.

गुनाह कबूल किया

पाकिस्तानी मूल के अमरीकी नागरिक डेविड कोलमेन हेडली ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है और कहा है कि वो मुंबई हमले की साज़िश में शामिल थे. उन्होंने ये बयान शिकागो की एक अदालत में दिया.

हेडली ने अपने ऊपर लगाए गए सभी 12 आरापों को कबूल कर लिया.

बीबीसी संवाददाता संजय मजूमदार के मुताबिक पी चिदंबरम ने कहा है कि उन्होंने याचिका देखी है और उन्हें उम्र क़ैद हो सकती है जिससे भारत संतुष्ट होगा.

डेविड हेडली के वकीलों का कहना है कि हेडली इस बात के लिए राज़ी हैं कि दूसरे देशों की सरकारें उनसे पूछताछ कर सकती हैं.

एक समझौते के तहत गुनाह कबूल करने के बदले अमरीकी अभियोजन पक्ष उन्हें मौत की सज़ा देने की माँग नहीं करेगा.

शर्तों के तहत हेडली सह अभियुक्त तहावुर हुसैन राणा के ख़िलाफ़ गवाही देने पर भी सहमत हो गए हैं.

उन्होंने इस बात पर सहमति जताई है कि विदेश में चल रही किसी भी न्यायिक प्रक्रिया में वो अमरीका में रहते हुए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग और अन्य माध्यमों से मदद करेंगे.

इसका आशय ये है कि उनका भारत प्रत्यर्पण नहीं किया जा सकेगा लेकिन उनसे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिए पूछताछ की जा सकेगी.

पिछले साल अक्तूबर में डेविड हेडली को गिरफ़्तार किया गया था. उन पर हत्या की साज़िश रचने, मुंबई हमलों में भूमिका और आतंकवादी संगठन की सहायता करने समेत कई आरोप हैं.

संबंधित समाचार