इसराइली कूटनीतिज्ञ का निष्कासन होगा

महमूद अल मबहूह
Image caption मबहूह की दुबई के एक होटल में हत्या कर दी गई थी.

दुबई में फ़लस्तीनी नेता की हत्या के मामले में ब्रिटेन ने एक इसराइली कूटनीतिज्ञ को निष्कासित करने का फ़ैसला किया है.

ब्रिटेन का कहना है कि दुबई की घटना में फ़र्ज़ी ब्रिटिश पासपोर्ट का इस्तेमाल हुआ था और इसी मु्द्दे पर इसराइली कूटनीतिज्ञ को निष्कासित किया जा रहा है.

विदेश मंत्री डेविड मिलिबैंड इस मामले में जल्दी ही संसद में बयान देने वाले हैं.

इसराइल ने बार बार कहा है कि जनवरी महीने में दुबई के एक होटल में महमूद अल मबहूह की हत्या में उनके एजेंटों का कोई हाथ नहीं है.

विदेश मंत्रि मिलिबैंड ने पूर्व में कहा था कि इसराइल को इस जांच में पूरा सहयोग देना चाहिए कि फ़र्ज़ी ब्रिटिश पासपोर्ट कैसे इस्तेमाल हुए थे.

बीबीसी संवाददाता जेरेमी बोवेन ने कहा है कि ब्रिटेन की गंभीर अपराधा शाखा को इस बात के पुख्ता सबूत मिले हैं कि दुबई की घटना में फ़र्ज़ी ब्रितानी पासपोर्टों का इस्तेमाल हुआ था जिसके बाद विदेश मंत्री ने संसद में बयान देने का फ़ैसला किया.

कूटनीतिक सूत्रों का कहना है कि ब्रितानी सरकार इसराइल पर मबहूह की हत्या में शामिल होने का आरोप नहीं लगा रही है.

उन्होंने ज़ोर देकर कहा कि ब्रिटेन में इसराइल के राजदूत रॉन प्रोसोर को निष्कासित नहीं किया जाएगा.

मिलिबैंड ने पिछले महीने साफ़ कहा था कि दुबई की घटना में ब्रिटेन के फ़र्ज़ी पासपोर्टों के इस्तेमाल की जांच होगी.

दुबई में मबहूह की हत्या की घटना में कई ब्रितानी फ़र्ज़ी पासपोर्टों का इस्तेमाल हुआ था. मबहूह हमास की सैन्य शाखा के प्रमुख थे.

मबहूह की मौत के बाद उनके परिवारवालों ने कहा कि मबहूह की मौत बिजली के झटके से हुई है. साथ ही मबहूह का गला भी घोंटा गया था.

संबंधित समाचार