पाकिस्तान-अमरीका संबंधों का नया दौर

हिलेरी क्लिंटन
Image caption अमरीका की ओर से सामरिक वार्ता की अगुआई हिलेरी क्लिंटन कर रही हैं.

अमरीका ने पाकिस्तान के साथ पहली सामरिक वार्ता शुरु करते हुए कहा है कि दोनों देशों के बीच संबंध उतार चढ़ाव भरे रहे हैं लेकिन अब संबंधों का एक नया दौर शुरु हो रहा है.

दोनों देशों के बीच पहली बार उच्च स्तरीय सामरिक वार्ता हो रही है जिसमें दोनों देशों के विदेश मंत्री और उच्च अधिकारी हिस्सा ले रहे हैं.

दो दिनों तक चलने वाली सामरिक वार्ताओं को शुरु करने से पहले संवाददाता सम्मेलन में हिलेरी क्लिंटन ने कहा कि दोनों देशों के संबंध खट्टे मीठे रहे हैं.

उनका कहना था, ‘‘पाकिस्तान की सेना और जनता हिंसक चरमपंथ से जूझ रही है और इस लड़ाई के परिणाम महत्वपूर्ण होने वाले हैं. ऐसे में हम पाकिस्तान के साथ राजनीतिक, आर्थिक और सामाजिक साझेदारी के लिए प्रतिबद्ध हैं.’’

हिलेरी ने साफ़ कहा कि दोनों देशों के बीच पूर्व में संबंध उतार चढ़ाव भरे रहे हैं लेकिन अब संबंधों का नया दौर शुरु हो रहा है.

उन्होंने कहा, ‘‘पूर्व में हमारे बीच गलतफ़हमियां रहीं, असहमतियां भी रहीं लेकिन दोस्तों में और परिवार के सदस्यों के बीच भी ऐसा होता है. अब नया दिन शुरु हुआ है. राष्ट्रपति ओबामा और मेरी पाकिस्तान में व्यक्तिगत रुचि है और हम बेहतर संबंध चाहते हैं.’’

विदेश मंत्री ने बताया कि सामरिक वार्ताओं में पाकिस्तान की ऊर्जा ज़रुरतों के साथ साथ हिंसा के कारण परेशान आम लोगों के मुद्दों पर चर्चा की जाएगी.

Image caption कुरैशी ने संवाददाता सम्मेलन के दौरान कश्मीर मामला भी उठाया.

कश्मीर का मुद्दा

हिलेरी क्लिंटन के बाद संवाददाताओं को संबोधित करते हुए पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने कश्मीर का मुद्दा भी उठाया और साथ ही कहा कि पाकिस्तान बिना किसी भेदभाव के ऊर्जा संसाधनों तक पहुंच चाहता है.

विशेषज्ञ मानते हैं कि ऊर्जा संसाधनों से पाकिस्तान का अभिप्राय परमाणु समझौते की तरफ है लेकिन इस पर अमरीका ने अभी अपना रुख स्पष्ट नहीं किया है.

कुरैशी ने कश्मीर का मुद्दा उठाया और कहा, ‘‘ पाकिस्तान ने अफ़गानिस्तान में शांति स्थापित करने में भूमिका निभाई है. हम दक्षिण एशिया में सभी विवादों का शांतिपूर्ण निपटारा चाहते हैं जिसमें कश्मीर बी शामिल है. हम उम्मीद करते हैं कि कश्मीर के मामले में अमरीका अपनी सकारात्मक सक्रिय भूमिका जारी रखेगा.’’

दोनों देशों के बीच दो दिनों तक सामरिक वार्ता होनी है जिसमें पाकिस्तान के सैन्य प्रमुख अशफाक कियानी भी शामिल हो रहे हैं.

संबंधित समाचार