एवरेस्ट को बाल पर्वतारोही की चुनौती

जॉरडन रोमेरो
Image caption जॉरडन दुनिया के छ महाद्वीपों की सर्वोच्च शिखरों की चढ़ाई कर चुके हैं.

एवरेस्ट की चढ़ाई कोई हंसी खेल नहीं लेकिन 13 वर्षीय जॉरडन रोमेरो ने एवरेस्ट पर विजय पाने का बीड़ा उठाया है.

अगर वो अपनी मुहिम के कामयाब होते हैं तो वो दुनिया के सर्वोच्च शिखर की चढ़ाई करने वाले सबसे कम उम्र के पर्वतारोही बन जाएंगे.

जॉरडन नेपाल की राजधानी काठमांडू से चीन की तरफ़ वाले बेस कैम्प के लिए रवाना हो गए हैं. यहीं से वो अपने पिता और सौतेली मां के साथ चढ़ाई शुरु करेंगे.

उनके पिता और सौतेली मां अब तक की सभी चढ़ाइयों में उनके साथ गए हैं.

अनुभवी पर्वतारोही

जॉरडन को पर्वतारोहण का काफ़ी अनुभव है. जब वो मात्र 10 साल के थे तो उन्होने तंज़ानिया में किलिमंजारो शिखर पर चढ़ाई की थी.

उनका सपना है कि वो सातों महाद्वीपों के सर्वोच्च शिखरों पर विजय प्राप्त करें. वो एशिया के अलावा सभी महाद्वीपों के शिखरों पर चढ़ाई कर चुके हैं. लेकिन अन्टार्कटिक महाद्वीप के विन्सन मेसिफ़ शिखर की चढ़ाई करने की उनकी कोई योजना नहीं है.

एवरेस्ट पर विजय पाने वाले सबसे कम उम्र के पर्वतारोही नेपाल के तेम्बा त्शेरी हैं जिन्होने 2001 में 16 साल की उम्र में यह रेकार्ड बनाया था.

जॉरडन ने एवरेस्ट की चढ़ाई शुरु करने से पहले समाचार एजेंसी एएफ़पी को बताया, "मैं मरने से पहले एक बार एवरेस्ट की चढ़ाई ज़रूर करना चाहता था. इत्तेफ़ाक से मैं यह काम इस उम्र में कर रहा हूं. मैं विश्व रेकार्ड तो बनाउंगा लेकिन मेरी इच्छा सिर्फ़ चढ़ाई करने की है".

जोखिम पर चिंता

इतनी उम्र के बच्चे को दुनिया के सर्वोच्च शिखर की चढ़ाई करने देना कहां तक उचित है इस पर चिंता व्यक्त की जा रही है लेकिन जॉरडन का कहना है कि वो किसी तरह का ख़तरा मोल नहीं लेंगे और अगर कोई समस्या खड़ी हुई तो लौट आएंगे.

चढ़ाई शुरु करने से पहले वो बेस कैम्प में कुछ सप्ताह बिताएंगे जिससे वहां के पर्यावरण और मौसम के आदी हो सकें.

जब ये पूछा गया कि क्या 13 साल का बच्चा इस जोखिम का फ़ैसला करने में सक्षम है तो उनकी मां ली ऐन ड्रेक ने बीबीसी को बताया कि उनका बेटा पूरे समय अपने पिता के साथ रहेगा.

उन्होने कहा, "जॉरडन बहुत ख़ामोश, केंद्रित और दृढ़ संकल्पी बच्चा है और वहां किसी तरह का जोखिम उठाने नहीं गया है. ये बात बिल्कुल स्पष्ट है कि जॉरडन की सुरक्षा हम सबकी पहली प्राथमिकता होगी ".

जॉरडन की मां ने ये भी बताया कि वो अपने साथ बीजगणित की किताब और कुछ होमवर्क भी ले जा रहे हैं.

संबंधित समाचार