अतुल खरे सहायक महासचिव बनाए गए

अतुल खरे
Image caption खरे पूर्व में भारतीय विदेश सेवा में रहे हैं

भारत के अतुल खरे को संयुक्तराष्ट्र में सहायक महासचिव का ओहदा दिया है.

संयुक्तराष्ट्र महासचिव बान की मून ने यह घोषणा करते हुए कहा है कि खरे शांतिरक्षक अभियानों के प्रभारी होंगे.

अतुल खरे ग्वाटेमाला के एडमंड मुलेट का स्थान लेंगे. मुलेट को हेती के लिए संयुक्तराष्ट्र महासचिव का विशेष प्रतिनिधि बनाया गया है.

अतुल खरे लंबे समय तक संयुक्तराष्ट्र में हैं.

खरे ने इससे पहले तिमोर-लेस्ते(पूर्वी तिमोर) के लिए संयुक्तराष्ट्र महासचिव के विशेष प्रतिनिधि के रूप में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी.

वे तिमोर-लिस्ते में संयुक्तराष्ट्र के मिशन के प्रमुख भी रहे हैं.

विदेश सेवा का अनुभव

संयुक्तराष्ट्र में कैरियर शुरू करने से पहले अतुल खरे भारतीय विदेश सेवा के अधिकारी रहे हैं. उस दौरान उन्होंने फ़्रांस, मॉरिशस, सेनेगल, थाइलैंड और ब्रिटेन में भारतीय मिशनों में काम किया.

उन्होंने न्यूयॉर्क में संयुक्तराष्ट्र स्थित भारत के स्थाई मिशन में भी अपनी सेवाएँ दी हैं.

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान से स्नातक अतुल खरे ने ऑस्ट्रेलिया के सदर्न क़्वींसलैंड विश्वविद्यालय से एमबीए की डिग्री भी ले रखी है.

अतुल खरे की पत्नी वंदना खरे एक लेखिका हैं.

संबंधित समाचार