संदिग्ध के ख़िलाफ़ आरोप तय

शहज़ाद
Image caption शहज़ाद पाकिस्तान मूल के अमरीकी नागरिक हैं और पिछले दिनों पाकिस्तान भी गए थे.

न्यूयॉर्क के टाइम्स स्कवायर इलाक़े में बम रखने के आरोप में गिरफ्तार पाकिस्तानी मूल के अमरीकी नागरिक फ़ैसल शहज़ाद के ख़िलाफ़ आतंकवाद के आरोप लगाए गए हैं.

अधिकारियों के अनुसार 30 वर्षीय शहज़ाद पर जनसंहार के हथियारों के इस्तेमाल का प्रयास करने के गंभीर आरोप भी लगे हैं.

मैनहटन की संघीय अदालत में उन पर ये आरोप तय किए गए.शनिवार को टाइम्स स्कवायर में एक कार में बम मिला था जिसे पुलिस ने निष्क्रिय कर दिया था.

जांच के बाद कनेक्टीकट में रहने वाले शहज़ाद को गिरफ़्तार किया गया.

शहज़ाद को उस समय गिरफ़्तार किया गया जब वो जेएफके एयरपोर्ट से दुबई जाने वाले एक विमान में बैठ गए थे.

इससे पहले अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि न्यूयॉर्क में हुए असफल कार बम हमले से अमरीकी लोग डरेंगे नहीं.

ओबामा ने कहा है कि ‘यह घटना उस दुखद समय की याद दिलाता है जिसमें हम रहते हैं’. उन्होंने कहा है कि इस मामले में दोषियों के साथ न्याय होगा.

अमरीका के अटार्नी जनरल एरिक होल्डर ने कहा था कि शहज़ाद पर आतंकवाद और नरसंहार के हथियारों का इस्तेमाल के प्रयास जैसे आरोप लगाए जाएंगे.

उन्होंने कहा, ‘‘यह साफ़ है कि यह एक आतंकवादी प्लॉट था और इसमें अमरीकियों को मारे जाने का लक्ष्य था.’’

माना जाता है कि शहज़ाद ने टाइम्स स्कवायर पर विस्फोटक रखने के लिए ही गाड़ी खरीदी थी.

जांचकर्ताओं का कहना है कि शहज़ाद ने कहा है कि वो अकेले काम कर रहे थे और उनका विदेशी चरमपंथियों से कोई संबंध नहीं है.

पाकिस्तान से आ रही रिपोर्टों के अनुसार कराची में शहज़ाद के ससुर और उनके एक सहयोगी को भी शक के आधार पर गिरफ़्तार किया गया है हालांकि अधिकारियों ने इसका खंडन किया है.

ओबामा ने कहा है कि एफबीआई और पुलिस के पास सारे औज़ार हैं जिनसे वो जानकारी जुटा सकते हैं.

उन्होंने कहा, ‘‘हम जानते हैं कि जो लोग ये हमला करना चाहते थे वो चाहते थे कि हम डर कर रहें. लेकिन अमरीकी और एक देश होने के नाते हम घबराएंगे नहीं. हम डरेंगे नहीं.’’

इससे पहले विधि विभाग से जुड़े अधिकारियों ने कहा था कि शहज़ाद ने बयान दिए हैं.

रायटर्स संवाद समिति ने एक अधिकारी के हवाले से कहा, ‘‘शहज़ाद ने माना कि उसे गाड़ी खरीदी और विस्फोटक को जोड़ा, उसे गाड़ी में रखा. गाड़ी को घटनास्थल पर छोडा और चला गया. ’’

शहजा़द कुछ दिनों पहले पाकिस्तान गए थे. एफबीआई इस बारे में जानकारी जुटा रही है कि उन्होंने पाकिस्तान में क्या किया है.

सूत्रों के अनुसार शहज़ाद क़रीब एक महीने तक पाकिस्तान में रहे जिसमें से कुछ समय उन्होंने पेशावर में बिताया.

संबंधित समाचार