टाइम्स स्क्वायर मामले में होगी पेशी

पुलिस
Image caption बम धमाके की कोशिश के लिए पाकिस्तानी तालेबान के ज़िम्मेदारी लेने को एक पाक अधिकारी ने खारिज कर दिया.

न्यूयॉर्क के टाइम्स स्क्वायर पर नाकाम बम हमले के सिलसिले में गिरफ़्तार किए गए फ़ैसल शहज़ाद को मंगलार को मैनहाटन की एक अदालत में पेश किया जाएगा.

पाकिस्तान के आंतरिक गृहमंत्री रहमान मलिक ने वादा किया है कि उनका देश इस मामले में अमरीका के साथ सहयोग करेगा ताकि इस गिरफ़्तार व्यक्ति के बारे में जानकारी हासिल की जा सके और उसे सज़ा दिलवाई जा सके.

तीस-वर्षीय फ़ैसल शहज़ाद को न्यूयॉर्क के जेएफ़के हवाई अड्डे पर उस वक्त गिरफ़्तार किया गया जब वो दुबई जा रहे एक विमान में सवार होने की कोशिश कर रहे थे.

फ़ैसल शहज़ाद का जन्म पाकिस्तान में हुआ था लेकिन वो अब अमरीका के नागरिक हैं.

जानकारी की कमी

उनके बारे में अभी बहुत जानकारियाँ सामने नहीं आई हैं लेकिन अमरीका से आ रही रिपोर्टों के मुताबिक वो हाल में पाकिस्तान की पाँच महीने की यात्रा करके लौटे हैं.

रिपोर्टों में ये भी कहा गया है कि उनकी पत्नी पाकिस्तान में ही हैं.

एक रिपोर्ट के मुताबिक फ़ैसल शहज़ाद ने अपना कुछ वक्त पेशावर में गुज़ारा. पेशावर तालेबान के गढ़ के बिल्कुल नज़दीक है.

सूत्रों का कहना है कि फ़ैसल का ताल्लुक़ दक्षिणी पंजाब से है जहाँ चरमपंथी संगठनों का दबदबा है, हालांकि इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई है.

एक वरिष्ठ पाकिस्तानी सुरक्षा अधिकारी ने बीबीसी को बताया कि उन्हें फ़ैसल के बारे में कोई जानकारी नहीं है.

उनका कहना है कि पाकिस्तान से बाहर रहने वाले सभी प्रवासियों के बारे में जानकारी रखना संभव नहीं है.

बम धमाके की कोशिश के लिए पाकिस्तानी तालेबान के ज़िम्मेदारी लिए जाने के वक्तव्य को उन्होंने खारिज कर दिया. उनका कहना था कि पाकिस्तानी तालेबान ज़िम्मेदारी लेकर अपना कद बढ़ाना चाहते हैं.

अभी तक ये साफ़ नहीं है कि बम धमाके की कोशिश के पीछे किसी एक व्यक्ति का हाथ था, या फिर उस व्यक्ति को पाकिस्तान के किसी चरमपंथी गुट या फिर कहीं और से कोई सहायता प्राप्त हुई.

संबंधित समाचार