अमरीका ने बीपी से सफ़ाई मांगी

बराक ओबामा
Image caption ओबामा पहले ही कह चुके हैं कि तेल कंपनियों को खर्च वहन करना होगा

मैक्सिको की खाड़ी में हो रहे तेल के रिसाव के मामले में अमरीकी सरकार ने तेल कंपनी से पूछा है कि वह तत्काल बताए कि वह कितना खर्च उठाने को तैयार है.

बीपी को भेजे गए पत्र में अमरीकी प्रशासन ने कहा है कि जनता को यह जानने का हक़ है कि बीपी की असली मंशा क्या है.

शुक्रवार को राष्ट्रपति बराक ओबामा ने तेल रिसाव के मामले में दूसरे पर दोषारोपण करने की कोशिश कर रही तेल कंपनियों को राष्ट्रपति बराक ओबामा ने आड़े हाथों लिया था और संकेत दिए थे कि बीपी के कुछ अधिकारी ज़िम्मेदारी लेने को तैयार नहीं हैं.

उधर बीपी ने कहा है कि उसने तेल का बहाव रोकने के लिए शुक्रवार को जो उपाय किए हैं उसका असर होने लगा है.

इस बीच मिसिसिपी तीसरा अमरीकी प्रांत बन गया है जहाँ समुद्र तट पर तेल पहुँच गया है.

20 अप्रैल को तेल के कुँए में हुए विस्फोट के बाद से मैक्सिको की खा़ड़ी में लगातार तेल फैल रहा है और तेल लुज़ियाना और अलाबामा प्रांत के समुद्र तटों तक पहले ही पहुँच चुका है.

इस हादसे में 11 लोगों की मौत हुई थी.

पत्र

अमरीका के आंतरिक मामलों के मंत्री केन सालाज़ार और आतंरिक सुरक्षा मामलों के मंत्री जैनेट नैपोलिटानो ने बीपी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी टोनी हेवर्ड को पत्र लिखा है.

इस पत्र में उन्होंने लिखा है कि अब तक बीपी लगातार कहती रही है कि वह तेल रिसाव से होने वाले नुक़सान का सारा खर्च उठाएगी.

उन्होंने लिखा है, "जनता को यह जानने का हक़ है कि बीपी तेल रिसाव से हो चुके नुक़सान और आगे होने वाले नुक़सान की क्षतिपूर्ति के लिए कितना खर्च करने को तैयार है."

पत्र में कहा गया है, "यदि हमारी समझ ठीक नहीं है तो हम बीपी से अनुरोध करते हैं कि वह अपनी मंशा सार्वजनिक रुप से ज़ाहिर करे."

अधिकारियों ने कहा है कि वे उम्मीद कर रहे हैं कि बीपी उस क़ानूनी दायरे के बारे में विचार नहीं कर रही होगी जिसमें ऐसे किसी रिसाव की स्थिति में तेल कंपनी को अधिकतम साढ़े सात करोड़ डॉलर की राशि अदा करनी होती है.

हालांकि बीपी पिछले सप्ताह कह चुकी है कि यह क़ानूनी दायरा अप्रासंगिक है और कंपनी सारे खर्च वहन करेगी और सारे वैधानिक दावों का निपटारा करेगी.

लेकिन शुक्रवार को राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा था कि बीपी के कुछ अधिकारी ज़िम्मेदारी लेने को तैयार नहीं दिखते.

बराक ओबामा ने फ़िलहाल तेल के नए कुँए खोदने पर पाबंदी लगा दी है और कई राजनीतिज्ञ चाहते हैं कि इस रोक को स्थाई कर दिया जाए.

संबंधित समाचार