ज़ंजीरों में जकड़ी लड़कियां आज़ाद हुईं

Image caption चीन की पुलिस ने एक साल से तहख़ाने में क़ैद दो किशोरियों को ढूंढ निकाला

मध्य चीन के वुहान शहर की पुलिस ने दो किशोरियों को मुक्त कराया है.

चीन के समाचार माध्यमों का कहना है कि इन्हे एक मकान के तहख़ाने में कोई एक साल से ज़ंजीरों में बांधकर रखा गया था.

इनमें से एक की उम्र 16 साल और दूसरी की 19 साल बताई गई है

दोनों ने एक टूटे हुए टेलिविज़न में एक पर्ची रखी थी जिसे टीवी की मरम्मत करने वाले एक मैकेनिक ने देखा.

जिस व्यक्ति पर इन लड़कियों को बंधक बनाने का संदेह है वह एक बलात्कार के एक अन्य मामले में पिछले एक सप्ताह से पुलिस हिरासत में है.

जेंग शियांगबाओ नामका यह व्यक्ति 39 साल का बताया गया है.

जब पुलिस इन लड़कियों तक पहुंची तो उन्हे निर्वस्त्र पाया. अभी यह पता नहीं चल पाया है कि इन लड़कियों का यौन शोषण हुआ.

बेइजिंग न्यूज़ ने ख़बर दी है कि हुबेइ प्रांत के दोमंज़िला मकान के तहख़ाने में ये दोनों लड़कियां ज़ंजीरों में जकड़ी पाई गईं.

इनमें से एक का अपहरण पिछले साल जुलाई में हुआ था. वो केवल 200 मीटर की दूरी पर रहती थी.

उसके एक रिश्तेदार ने कहा कि अगर पुलिस इन्हे न ढूंढ पाती तो ये भूखी मर जातीं क्योंकि जेंग शियांगबाओ पुलिस हिरासत में था.

इन लड़कियों की खोज तब हुई जब टेलिविज़न की मरम्मत करने वाले एक मैकेनिक ने एक टेलिविज़न को खोला और उसमें एक पर्ची रखी पाई.

पर्ची में लिखा था, "मेरी मदद कीजिए मैं पिछले एक साल से एक तहख़ाने में बंद हूं".

इस पर्ची में उस जगह का नक्शा भी बना था और 19 वर्षीया लड़की के पिता का फो़न नम्बर लिखा था.

मैकेनिक के एक मित्र ने लड़की के पिता को फो़न किया जिसने पुलिस को चौकन्ना किया.

पुलिस ने इलाक़े की तलाशी की और अंत में तहख़ाना ढूंढ निकाला. इसे मिट्टी की परतों और लकड़ी के तख़्तों से ढक कर रखा गया था.

जेंग शियांगबाओ नामका व्यक्ति इस मकान में अपनी 70 वर्षीया मां के साथ रहता था.

पिछले साल उसका तलाक़ हो गया था. वह पास के एक भट्ठे में काम करता था.

इससे पहले भी लड़कियों ने नूडल्स और डबलरोटी के पैकेटों पर नोट लिखकर मदद मांगने की कोशिश की थी लेकिन उन्हे किसी ने देखा नहीं.

संबंधित समाचार