आत्मसमर्पण के बाद बैंकॉक में कर्फ़्यू

थाइलैंड में सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों के आत्मसमर्पण के बाद राजधानी बैंकॉक और देश के अन्य अनेक हिस्सों में कर्फ़्यू लगा दिया है.

रेड शर्ट कहलानेवाले आंदोलनकारियों के आत्मसमर्पण के बाद लगभग 27 इमारतों में आग लगा दी गई.

इसमें स्टॉक एक्सचेंज, बैंक और शोपिंग मॉल को आग का निशाना बनाया गया.

लोगों से घर जाने की अपील के बावजूद प्रतिरोध अब भी जारी है.

इसके पहले कई महीनों के संघर्ष के बाद सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों के नेताओं ने बुधवार को आत्मसमर्पण कर दिया था.

आंदोलनकारियों के चार प्रमुख नेताओं ने राजधानी बैंकॉक स्थित पुलिस मुख्यालय में आत्मसमर्पण किया.

उन्होंने प्रदर्शनकारी कैंपों में अपने समर्थकों को संबोधित करने के बाद ये क़दम उठाया.

प्रदर्शनकारियों के नेताओं ने कहा कि वो आत्मसमर्पण कर रहे हैं क्योंकि वो और लोगों को मरता नहीं देखना चाहते.

संघर्ष

ये प्रदर्शनकारी पूर्व प्रधानमंत्री थकसिन चिनावाट के समर्थक हैं और फिर से चुनाव की मांग कर रहे हैं.

वो प्रधानमंत्री अभिसीत विजयजीवा के इस्तीफ़े की भी मांग कर रहे हैं.

बुधवार को बख्तरबंद गाड़ियों के साथ सैनिक सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों के खेमों में प्रवेश कर गए और उन्होंने अवरोधकों को तोड़ दिया.

अभी तक सेना ने बिना ज़्यादा ख़ूनख़राबे के शहर को नियंत्रण में लिया है. लेकिन कहीं कहीं प्रदर्शनकारी अब भी सेना के साथ उलझ रहे हैं.

उल्लेखनीय पिछले कुछ दिनों के संघर्ष में लगभग 40 लोग मारे गए थे और ख़बरें हैं कि बुधवार को छह और लोगों की मौत विभिन्न झड़पों में हुई है.

संबंधित समाचार