दिन में भी बिजली जलती रहेगी

Image caption केपटाउन बेहद ख़ूबसूरत शहर है लेकिन अपराध दर काफ़ी ज़्यादा है.

विश्व कप फ़ुटबॉल की मेज़बानी करने वाले दक्षिण अफ़्रीकी शहरों में से एक केपटाउन ने दिन में भी सड़कों पर बिजली जलाकर रखने का फ़ैसला किया है.

इसकी वजह है बिजली के तारों की चोरी रोकना.

केपटाउन शहर में नशे की लत में डूबे कई लोग इन तारों को बेचकर नशीली दवाएं खरीदते हैं और उनकी तादाद बढ़ती जा रही है.

स्थानीय प्रशासन के एक अधिकार क्लाइव जस्टस का कहना है, “बिजली केबल की चोरी अपने चरम पर पहुंची हुई है और ये कदम इसलिए उठाया जा रहा है क्योंकि ये चोर लाइव तारों को काटकर अपनी जान जोखिम में नहीं डालेंगे.”

ग़ौरतलब है कि इसी महीने विश्व कप फ़ुटबॉल की मेज़बानी करने वाला दक्षिण अफ़्रीका दो साल पहले भीषण बिजली संकट से जूझ रहा था और पूरे देश में देश की बूढ़ी होती बिजली व्यवस्था को लेकर भारी चिंता थी.

क्लाइव जस्टस का कहना है, “आमतौर पर बिजली की इस बर्बादी को जायज़ नहीं ठहराया जा सकता और हम सबको बिजली बचाने पर ज़ोर देना चाहिए लेकिन चोरी हो गए केबलों को नए सिरे से लगाने की कीमत बिजली की कीमत से कहीं ज़्यादा है.”

दिन में ख़ासकर उन इलाकों में सड़कों पर बिजली जलती रहेगी जहां चोरी ज़्यादा होती है.

कुछ इलाके तो ऐसे हैं जहां अगर बिजली कर्मचारी पहुंचते हैं तो उनपर हमला भी होता है.

देश में जिन दस स्टेडियम में विश्व कप के मैच होने हैं वहां जेनरेटर की व्यवस्था की गई है जिससे कि अगर बिजली तंत्र चरमराता भी है तो खेल जारी रह सके.

संबंधित समाचार