तालिबान के लिए रंगदारी टैक्स?

Image caption रिपोर्ट में कहा गया है कि तालिबान को लाखों डॉलर की रिश्वत दी जा रही है.

एक जांच रिपोर्ट का कहना है कि अमरीकी सेना अफ़गानिस्तान में ख़तरनाक इलाकों से जानेवाली अपनी गाड़ियों की सुरक्षा के लिए तालिबान लड़ाकों को लाखों डॉलर रिश्वत दे रही है.

अमरीकी कांग्रेस की इस जांच रिपोर्ट में कहा गया है कि अमरीकी सेना अफ़गान सुरक्षा कंपनियों को लाखों डॉलर दे रही हैं जो इन पैसों को कबायली लड़ाकों तक पहुंचाती हैं.

ये पैसा कथित तौर पर सैनिकों की ज़रूरत का सामान ले जा रहे ट्रकों की सुरक्षा के लिए दिया जाता है.

दस्तावेज़ में कहा गया है कि यदि ये पैसा नहीं दिया जाता है तो ट्रकों के काफ़िलों पर हमला होता है.

इसमें कहा गया है कि खाना, पानी, इंधन, असला ले जा रहे ये ट्रक इन कंपनियों को हर हफ़्ते चालीस लाख डॉलर तक देते हैं.

Image caption रिपोर्ट में कहा गया है कि जिन इलाकों में पैसा नहीं दिया जाता है वहां ट्रकों के काफ़िले पर हमला होता है.

मंगलवार को अमरीकी कांग्रेस की एक कमिटी सेना के वरिष्ठ सदस्यों से इस मामले पर जवाब तलब करेगी.

कांग्रेस की ओर से की गई इस जांच में कहा गया है कि रिश्वत तालिबान को दी जाती है, उन गवर्नरों को, उन पुलिस प्रमुखों और उन स्थानीय फ़ौजी कमांडरों को दी जाती है जिनके इलाके से ये काफ़िले गुज़रते हैं.

इन सुरक्षा कंपनियों में से एक कथित रूप से राष्ट्रपति हामिद करज़ई के दो चचेरे भाईयों की है.

सोमवार देर शाम जारी इस रिपोर्ट में कहा गया है कि ये सुरक्षा व्यवस्था निजी कॉंट्रैक्टरों के इस्तेमाल के नियमों के उल्लंघन के साथ-साथ अमरीकी रक्षा विभाग के क़ानूनों का भी उल्लंघन करती है.

संबंधित समाचार