केटी के परफ्यूम बिकना बंद

केटी प्राइस
Image caption केटी प्राइस के नाम पर इत्र के अलावा कई और चीज़ें बिकती हैं.

रिएलिटी टीवी स्टार कैटी प्राइस के नाम पर बने इत्र को सुपरड्रग स्टोर ने नैतिक कारणों से अपनी दुकानों से हटा लिया है.

ऑब्ज़र्वर अख़बार में छपी एक रिपोर्ट में दावा किया गया था कि इस परफ्यूम की बोतलें भारतीय मज़दूर बनाते हैं जिन्हें न्यूनतम मज़दूरी भी नहीं दी जाती है.

सुपरड्रग स्टोर की एक प्रवक्ता ने बताया कि इस संबंध में मज़बूत नैतिक नीतियों का पालन करते हुए इस परफ्यूम को स्टोर से हटा लिया गया है.

उन्होंने कहा, ‘‘व्यवसाय में हम बहुत ही मज़बूत नैतिक नीतियों का पालन करते हैं. हम चाहते हैं कि हमारे उपभोक्ता कुछ खरीदें तो उन्हें विश्वास हो जो उत्पाद वो खरीद रहे हैं वो नैतिक तरीकों से बनाया गया हो.’’

संडे ऑब्ज़र्वर ने दावा किया है कि भारत के कारखानों में मज़दूरों को प्रति घंटा मात्र 26 पेंस (16 रुपए) ही मज़दूरी मिलती है जो ग़लत है.

प्रवक्ता का कहना था कि अब केटी प्राइस के परफ़्यूम की बॉटलिंग का काम भारत से हटाकर ब्रिटेन और फ्रांस ले आया गया है.

भारत में इस परफ़्यूम की बॉटलिंग का काम प्रगति ग्लास कंपनी करती थी.

केटी प्राइस को जॉर्डन के नाम से भी जाना जाता है और उनके नाम पर कई ब्रांडेड उत्पाद बिकते हैं जिनमें बिस्तर, किताबें और स्वीमिंग से जुड़े सामान भी हैं.

संबंधित समाचार