इसराइल ने नाकेबंदी में ढील का एलान किया

Image caption आर्थिक नाकेबंदी की वजह से आम लोग काफ़ी परेशानी में रहे हैं.

इसराइल ने गज़ा पट्टी की आर्थिक नाकेबंदी में ढील देने का एलान किया है और साथ ही कहा है कि आम ज़रूरत की और चीज़ों को फ़लस्तीनी क्षेत्र में जाने की इजाज़त दी जाएगी.

इसराइल पर पिछले दिनों में इस नाकेबंदी को हटाने के लिए काफ़ी अंतरराष्ट्रीय दबाव पड़ा है.

कुछ हफ़्ते पहले इसराइल ने गज़ा के लिए मदद लेकर आ रहे एक जहाज़ी बेड़े पर हमला किया था जिसमें नौ लोग मारे गए थे.

अब इसराइल ने सुरक्षा कैबिनेट की दो दिनों की बैठक के बाद फ़ैसला किया है कि नाकेबंदी में ढील दी जाए.

इसके तहत कई ऐसी चीज़ें जिन्हें गज़ा में ले जाने पर रोक थी अब वहां जा सकेंगे.

मध्यपूर्व के अंतरराष्ट्रीय प्रतिनिधि टोनी ब्लेयर ने संकेत दिया था कि इसराइल नाकेबंदी में कुछ ढील के लिए राज़ी हो सकता है.

नीति परिवर्तन

इसराइल और मिस्र ने गज़ा पर तीन साल पहले आर्थिक नाकेबंदी का एलान कर दिया था जब हमास ने 2007 में फ़लस्तीनी क्षेत्र पर क़ब्ज़ा कर लिया था.

इसराइल कहता रहा है कि नाकेबंदी का मकसद फ़लस्तीनी क्षेत्र में युद्ध सामग्री को पहुंचने देने से रोकना है लेकिन मानवीय सहायता नहीं रोकी जा रही है.

इस एलान को इसराइल की नीति में एक बड़े परिवर्तन की तौर पर देखा जा रहा है.

लेकिन इस फ़ैसले पर पहुंचने में दो दिन लगे हैं और इससे स्पष्ट है कि कई वरिष्ठ नेता अभी भी इस पर दुविधा में हैं.

संबंधित समाचार