'वर्ष 2015 तक सैनिक वापस आ जाएँ'

Image caption अफ़ग़ानिस्तान में पिछले नौ वर्षों में 300 से ज़्यादा ब्रितानी सैनिक मारे जा चुके हैं

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने कहा है कि वे चाहते हैं कि ब्रितानी सैनिक अफ़ग़ानिस्तान से अगले पांच वर्षों में हट जाएँ.

जब उनसे पूछा गया कि क्या वे 2015 में अगले चुनाव से पहले सैनिकों को वापस देखना चाहते हैं तो कैमरन का कहना था, “हाँ मैं चाहता हूँ कि ऐसा हो, इसमें कोई दो राय नहीं है.”

जी-8 की बैठक में हिस्सा लेने के लिए कैमरन कनाडा में हैं. स्काई न्यूज़ को दिए गए इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि वे सैनिकों की वापसी को लेकर कोई समय सीमा तय नहीं करना चाहते.

बातचीत के दौरान कैमरन ने कहा, “ हम वहाँ पिछले नौ साल से हैं, अब हम और पाँच साल अफ़ग़ानिस्तान में नहीं रह सकते. लेकिन एक बात स्पष्ट कर दूँ- अफ़ग़ानिस्तान के साथ ब्रिटेन का दीर्घकालिक संबंध होना चाहिए जिसमें उनके सैनिकों को प्रशिक्षित करना और लोगों की मदद करना शामिल है- चाहे फिर हमारे सैनिक वहाँ से चले क्यूं न जाएं.”

समय सीमा नहीं

वर्ष 2001 में अफ़ग़ानिस्तान अभियान के शुरु होने के बाद करीब 307 ब्रितानी सैनिक मारे जा चुके हैं.

चुनाव प्रचार के दौरान भी डेविड कैमरन ने कहा था कि वे सैनिकों को वापस बुलाने की प्रक्रिया शुरु करना चाहते हैं.

डेविड कैमरन के सहयोगियों ने कहा है कि उनके बयान से ये संकेत नहीं मिलते कि सैनिकों की वापसी के लिए नई समय सीमा तय की जाएगी.

शनिवार को कैमरन अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा से मिलेंगे. ओबामा भी जी-8 और जी-20 की बैठक में हिस्सा लेने के लिए कनाडा में हैं.

ओबामा चाहते हैं कि अफ़ग़ानिस्तान से अमरीकी सैनिकों की कटौती अगले साल गर्मियों से शुरु हो हालांकि अमरीकी जनरल डेविड पेट्रियस मानते हैं कि ये फ़ैसला ज़मीनी हक़ीकत देखने के बाद लिया जाना चाहिए.

संबंधित समाचार