लुआंडा सबसे महंगा, कराची सबसे सस्ता

Image caption लुआंडा दुनिया का सबसे महंगा शहर आंका गया है

एक अंतरराष्ट्रीय सर्वेक्षण का कहना है कि अंगोला की राजधानी लुआंडा विदेशी पेशेवर लोगों के रहने के लिए सबसे महंगा शहर है जबकि पाकिस्तान का शहर कराची सबसे सस्ता शहर है.

वित्तीय सलाहकार कंपनी मरसर के सर्वेक्षण के अनुसार लुआंडा में घर किराए पर लेना लंदन से दोगुना महँगा है.

इसमें दो सौ शहरों का सर्वेक्षण किया गया और इसमें परिवहन, खानपान, कपड़े और मनोरंजन जैसे मानकों को शामिल किया गया.

लुआंडा के बाद दूसरा सबसे महंगा शहर टोक्यो है जबकि तीसरा स्थान चाड की राजधानी जमेना का है. इसके बाद चौथा नंबर पर मॉस्को है.

सातवें सबसे महंगे शहरों में एक और अफ़्रीकी शहर गैबॉ की राजधानी लीबरवील है.

सर्वेक्षण के अनुसार दुनिया के पहले दस सबसे महंगे शहरों में तीन अफ़्रीका के हैं.

पहले दस में एशिया के तीन शहर भी शामिल हैं, ये हैं जापान के दो शहर टोक्यो व ओसाका और हांगकांग.

यूरोप के सबसे महंगे शहरों में मॉस्को चौथे, स्विट्ज़रलैंड का शहर जिनीवा पाँचवें और ज्यूरिख आठवें और डेनमार्क का कोपेनहेगन दसवें स्थान पर है.

लंदन दुनिया का 17वां सबसे महंगा शहर है और न्यूयॉर्क 27वें स्थान पर है.

सर्वेक्षण के अनुसार भारत का सबसे महंगा शहर दिल्ली है और ये इस सूची में 85वें स्थान पर है. मुंबई का स्थान 89वां है जबकि बंगलौर 190वें स्थान पर है.

मरकर का कहना है कि ये सर्वेक्षण दिखाता है कि कारोबारी दुनिया में अफ़्रीका की अहमियत बढ़ती जा रही है.

इस सर्वेक्षण का इस्तेमाल बहुराष्ट्रीय कंपनियाँ करती हैं और वे इसके आधार पर अपने विदेशी कर्मचारियों के भत्तों का निर्धारण करती हैं.

संबंधित समाचार