अफ़गानिस्तान में हिंसा बढ़ेगी: पेट्रियस

जनरल पेट्रास

जनरल पेट्रास का कहना है कि आने वाले दिनों में हिंसा बढ़ेगी

अफ़गानिस्तान में अमरीकी सेना के नेतृत्व के लिए चुने गए जनरल डेविड पेट्रियस ने चेतावनी दी है कि वहां अगले कुछ महीनों में हिंसा बढ़ सकती है.

सीनेट की सैन्य सेवा समिति के समक्ष उन्होंने कहा, ‘‘ कोई भी काम आसान होने से पहले बहुत कठिन हो जाता है.’’

पेट्रियस का कहना था कि सैनिक तालिबान के ख़िलाफ़ इच्छाशक्ति की लड़ाई लड़ रहे हैं और आने वाले दिनों में सेना के रुख में और समन्वय दिखेगा.

राष्ट्रपति ओबामा ने जनरल स्टान्ले मैक्क्रिस्टल को बर्ख़ास्त करने के बाद पेट्रास को इस पद के लिए चुना था.

मेरा मानना है कि कड़ा संघर्ष चलेगा. आने वाले दिनों में संघर्ष और भीषण होगा. हम दुश्मनों के सुरक्षित ठिकानों पर जब हमला करेंगे और उनकी ताकत कम करेंगे तो वो पलटवार करेंगे.

जनरल पेट्रास

मैक्क्रिस्टल और उनके सहयोगियों ने एक लेख में अमरीकी प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों की आलोचना की थी जिसके बाद उन्हें बर्खा़स्त किया गया. मैक्क्रिस्टल ने अब रिटायरमेंट ले लिया है.

मंगलवार को सीनेट समिति के समक्ष लिखित जवाब देते हुए जनरल पेट्रास ने कहा कि अफ़गानिस्तान में सुरक्षा की स्थिति ‘नाजुक’ है और विद्रोही अभी भी ‘आत्मविश्वास से लबरेज़ और ताकतवर’हैं.

हालांकि उन्होंने कहा कि वो मानते हैं कि वहां प्रगति संभव है.

उन्होंने कहा, ‘‘वो दुनिया के कई देशों में चिंताओं को जानते हैं और चाहते हैं कि ये चिंताएं बढें.’’

पेट्रियस ने कहा, ‘‘मेरा मानना है कि कड़ा संघर्ष चलेगा. आने वाले दिनों में संघर्ष और भीषण होगा. हम दुश्मनों के सुरक्षित ठिकानों पर जब हमला करेंगे और उनकी ताकत कम करेंगे तो वो पलटवार करेंगे.’’

पेट्रियस ने कहा कि वो जुलाई 2011 में अफ़गानिस्तान से सेना वापस बुलाए जाने के राष्ट्रपति ओबामा की योजना का समर्थन करते हैं लेकिन उन्होंने ज़ोर दिया कि इसमें कुछ छोटे मोटे या बड़े बदलाव भी हो सकते हैं.

उन्होंने कहा कि अफ़गान सेना और पुलिस का स्टैंडर्ड् बढ़ाना एक बड़ी चुनौती है और यह काम कुछ ऐसा है कि उड़ते हुए विमान में बदलाव किए जा रहे हों और वो भी तब जब विमान गोलियों के निशाने पर हो.

पेट्रियस के बारे में कहा जाता है कि वो न केवल अच्छे सैनिक हैं बल्कि उनके पास राजनीतिक और कूटनीतिक समझ भी है. इराक़ में सैन्य स्थिति में बेहतरी का श्रेय उन्हीं को जाता है.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.