बाढ़ से बचने के लिए ली पेड़ पर शरण

Image caption बाढ़ के पानी में डूबी कारें

उत्तरी मैक्सिको में बाढ़ से बचने के लिए चार दिनों से पेड़ की शाखाओं पर शरण ली हुई दो लड़कियों को राहत कर्मचारियों ने बचा लिया है.

इन बच्चियों की उम्र नौ और दस साल है.

इन लड़कियों ने कहा कि वो पिछले चार दिनों से बगैर कुछ खाए-पीए पेड़ पर लटकी हुई थीं.

तामाउलिपस राज्य के उत्तर-पूर्व की पुलिस का कहना है कि इन लड़कियों के माता-पिता बाढ़ में डूब गए है. नदी के किनारे कैंप लगाकर रह रहे मछुआरों के एक समूह ने स्थानीय अधिकारियों को इन नाबालिग लड़कियों के बारे में जानकारी दी थी.

लिजबेथ डालिन और उसकी बहन लेस्ली डालिमल ग्वाना ट्रेविनो को अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनका इलाज हो रहा है.

उन्हें पेड़ पर कीड़े-मकोड़ों ने काटा था और उनके शरीर में पानी की कमी हो गई थी.

डाक्टरों का कहना है कि दोनों बच्चियां अभी तक सदमे की स्थिति में हैं लेकिन उनकी स्थित स्थिर बनी हुई है. बच्चियों ने बचाव अधिकारियों को बताया कि उन्होंने अपने माता-पिता को पिछले सोमवार को देखा था.

उनके पिता पीलॉन नदी के पुल पर पूरे परिवार के साथ कार ड्राइव कर रहे थे तभी कार झटके से मुड़ी और बाढ़ से लबालब नदी में गिर गई. कार में माता-पिता के साथ दोनों बहनें भी सवार थीं.

अधिकारियों ने बाढ़ ग्रस्त नदी से कई शव बरामद किए हैं लेकिन उन्हें एक व्यक्ति के विषय में अभी तक कोई जानकारी नहीं मिली है.

पुलिस के एक प्रवक्ता मारीसेला कांटू ने कहा, "हम लोग अब तक उसकी 15 वर्षीया बहन को नहीं तलाश सके हैं, लेकिन हम कोशिश कर रहे हैं कि जल्दी ही उसे तलाश लें. हमें पूरा विश्वास है कि वह जिंदा है और हम उसे तलाश लेंगे"

एलेक्स नामक तूफ़ान ने अमरीकी सीमा से लगे तामाउलिपस राज्य के उत्तर-पूर्वी हिस्से में काफ़ी तबाही मचाई है. लगातार हो रही बारिश और बाढ़ की वजह से पिछले दो सप्ताह में अब तक चार लोगों की मौत हो गई है. तेज आंधी की वजह से उत्तरी मेक्सिकों में भी हजारों लोग बेघर हो गए है.

संबंधित समाचार