ढक्कन लगने के बाद से रिसाव नहीं

तेल कंपनी बीपी ने कहा है कि मेक्सिको की खाड़ी में तेल के कुएं में नया ढक्कन लगाने के बाद वो उसकी निगरानी करती रहेगी.

कंपनी ने सतर्कता बरतते हुए एक बयान दिया था कि नया ढक्कन लगाने के बाद तेल के रिसाव का कोई संकेत नहीं मिल रहा है.

बीपी ने कहा है कि खाड़ी में ढक्कन पर किए गए प्रयोग बताते हैं कि उम्मीद के मुताबिक ढक्कन के अंदर दबाव बढ़ रहा जो अच्छा संकेत है.

अगर नए ढक्कन में दवाब ज़्यादा बना रहता है तो इसका मतलब ये हो सकता है कि तेल के कुँए से कुछ लीक नहीं हो रहा है लेकिन अगर दवाब कम होता है तो दिक्कत हो सकती है.

बीपी के उप प्रमुख केंट वेल्स का कहना है कि ढक्कन के अंदर बढ़ता हुआ दबाव टीम के विश्वास को और बल दे रहा है.

जारी रह सकते हैं परीक्षण

20 अप्रैल में तेल के कुँए में आग लगने के बाद से पहली बार तेल का रिसाव बंद हुआ है. आग लगने से 11 लोग मारे गए थे.

नया ढक्कन लगाने के बाद अभी उसका और परीक्षण किया जा सकता है.

अमरीका में इस तेल रिसाव को अब तक की सबसे बड़ी पर्यावरण आपदा माना जा रहा है. अप्रैल के बाद से कई तटीय इलाक़े इस तेल रिसाव से प्रभावित हुए हैं.

इन इलाक़ों को ख़ासा आर्थिक नुकसान हुआ है क्योंकि पर्यटक यहाँ के बीच वगैरह में नहीं आ रहे.

बीपी का कहना है कि इस आपदा से निपटने में 3.5 अरब डॉलर से ज़्यादा खर्च हो चुके हैं.

कंपनी 32000 लोगों को 20 करोड़ ड़लर दे चुकी है. कंपनी मुआवज़े के लिए 17 हज़ार लोगों के दावों पर विचार कर रही है.

तेल रिसाव के फ़िलहाल रुकने के बाद ये स्पष्ट नहीं है कि आगे क्या होगा. बीपी ने संकेत दिया है कि शायद कुँए को बंद रखा जा सकता है.

संबंधित समाचार