यौन उत्पीड़न मामले में गोर को राहत

अल गोर
Image caption अल गोर हाल ही में अपनी पत्नी से अलग हुए हैं

अमरीका के अभियोजन अधिकारियों ने कहा है कि पूर्व राष्ट्रपति अल गोर के ख़िलाफ़ यौन उत्पीड़न का मुक़दमा नहीं चलेगा.

पोर्टलैंड, ओरेगॉन के एक होटल की एक मसाजकर्मी ने आरोप लगाया था कि होटल के कमरे में अल गोर ने उनका यौन उत्पीड़न किया था.

अधिकारियों का कहना है कि विश्वसनीय सबूत न होने की सूरत में अल गोर के ख़िलाफ़ आपराधिक मुक़दमा नहीं चलाया जा सकता.

एक महीने पहले पुलिस ने इस मामले की जाँच फिर से शुरु की थी और उसके बाद यह फ़ैसला आया है.

यह मामला अक्तूबर, 2006 का है.

पूर्व उप राष्ट्रपति ने इस बात से इनकार नहीं किया है कि उन्होंने 54 वर्षीय मॉली हैगेर्टी से मसाज लिया था लेकिन उनका कहना है कि उन्होंने कोई यौन उत्पीड़न नहीं किया.

यह मामला पहले भी सबूतों के अभाव में बंद कर दिया गया था लेकिन पिछले जून में जब मॉली हैगर्टी ने एक पत्रिका 'नेशनल इंक्वायरर' से कहा कि अल गोर ने उनका यौन उत्पीड़न किया था तो इसकी जाँच एक बार फिर शुरु की गई.

मामला फिर से शुरु करने के बाद अभियोजन पक्ष ने मुक़दमा चलाने से इनकार कर दिया क्योंकि हैगर्टी ने पॉलीग्राफ़ टेस्ट से इनकार कर दिया और दूसरे ऐसा प्रतीत होता है कि उन्हें पत्रिका की ओर से पैसे दिए गए थे.

जिस समय कथित रुप से यह घटना हुई उस समय अल गोर पोर्टलैंड में जलवायु परिवर्तन पर एक भाषण देने गए हुए थे.

अल गोर पिछले जून में ही अपनी पत्नी से अलग हुए हैं.

संबंधित समाचार