अमरीकी रक्षा बजट में बड़ी कटौती

राबर्ट गेट्स
Image caption गेट्स का कहना है कि वो पैसे बचा रहे हैं कटौतियां नहीं कर रहे हैं.

अमरीकी सरकार ने अपने रक्षा बजट में बड़ी कटौतियों की घोषणा की है जिससे अरबों डॉलर की बचत हो सकेगी.

रक्षा मंत्री रॉबर्ट गेट्स का कहना है कि देश के दस मुख्य सैन्य कमांड्स में से एक ज्वाइंट फोर्सेस कमांड को बंद किया जा रहा है.

इतना ही नहीं अगले साल तक पेंटागन के खर्चे में भी दस प्रतिशत तक कटौती हो जाएगी. पेंटागन बाहरी ठेकेदारों से जो काम करवाता है उसे अगले साल से दस प्रतिशत कम किया जा रहा है.

गेट्स ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, '' हमारे सामने विभाग का बजट करने का काम नहीं है बल्कि हम चाहते हैं कि जो खर्च अधिक हो रहा है उसे कम करके उसका इस्तेमाल सेना के आधुनिकीकरण में किया जाए. हम कोशिश कर रहे हैं कि अमरीका के रक्षा संस्थान प्रभावी हों और कम खर्चे में काम करें.''

उन्होंने कहा कि ये कटौतियां अत्यं ज़रुरी थीं. उन्होंने कहा, ''मैंने सभी विभागों को ये अधिकार दिए हैं कि वो चाहें तो उन अड्डों और सुविधाओं को बंद करें जिनकी ज़रुरत नहीं है. ये राजनीतिक रुप से संवेदनशील मामला है. कांग्रेस ने रक्षा विभाग के ऐसा करने पर क़ानूनी अड़चनें लगाई हैं लेकिन मुझे लगता है कि ये असंभव नहीं है और कांग्रेस की भी कोशिश होगी कि अनावश्यक धन खर्च करने से बचा जाए. ''

अमरीका के ज्वाइंट फोर्सेस कमांड में कम से कम पांच हज़ार लोग काम करते हैं और वो देश की विभिन्न सैन्य सेवाओं के सैनिकों को एक साथ काम करने की ट्रेनिंग देते हैं.

ज्वाइंट फोर्सेस कमांड को बंद करने की घोषणा करते हुए गेट्स ने कहा, ''मैं जेएफसीओएम को बंद करने की सिफारिश करता हूं. अब इसके कुछ कार्य ज्वाइंट कमांड स्टाफ को दिए जाएंगे. जेएफसीओएम के अन्य कामों की समीक्षा होगी और देखा जाएगा कि जो कार्य ज़रुरी हैं वो दूसरे विभागों को सौंपे जाएंगे. ''

गेट्स का कहना था कि ये कटौतियां अत्यंत ज़रुरी हैं ताकि वर्षों के युद्ध के बाद पुनर्निर्माण के लिए सेना को पर्याप्त पैसों की ज़रुरत है.

गेट्स ने पिछले महीने घोषणा की थी कि वो अगले पांच वर्षों में सैन्य बजट में सौ अरब डॉलर की बचत करना चाहते हैं.

संबंधित समाचार