'पहली मुलाक़ात में छूने से बचें'

लंदन ओलम्पिक खेलों के आयोजन में अभी क़रीब दो वर्ष बाक़ी हैं, लेकिन तैयारी ज़ोरशोर से चल रही है. ओलम्पिक के दौरान दुनिया भर से ब्रिटेन आने वाले मेहमानों का स्वागत ठीक से हो इसके लिए पर्यटन एजेंसी के अधिकारियों ने एक गाइड भी जारी कर दी है. इसमें पहली मुलाक़ात में भारतीयों से गले मिलने या उन्हें छूने से बचने की सलाह दी गई है.

पर्यटन विभाग का मानना है कि यदि पर्यटन क्षेत्र से जुड़े लोग, जैसे- होटल वाले, टैक्सी वाले, दुकानदार आदि, विदेशी मेहमानों की सांस्कृतिक संवेदनशीलता का ख़ास ध्यान रखें तो ओलम्पिक के दौरान ब्रिटेन को पर्यटकों से होने वाली आमदनी 60 प्रतिशत तक बढ़ सकती है.

ब्रिटेन की राष्ट्रीय पर्यटन एजेंसी विजिटब्रिटेन की गाइड में विस्तार से बताया गया है कि किस देश के पर्यटकों से किस तरह पेश आना चाहिए.

ये रहे कुछ नमूने-

कोई जापानी मुस्कुरा रहा हो तो कोई ज़रूरी नहीं कि वो ख़ुश ही हो क्योंकि जापानी आम तौर पर क्रोधित, उदासी या निराशा की स्थिति में मुस्कुराते हैं. किसी जापानी को घूर कर देखना या उससे आँखें मिलाना भी ठीक नहीं है. एक जापानी के सामने बैठे हों तो प्रयास इस बात का करें कि आपके जूते के सोल उन्हें नहीं दिखे.

हांगकांग के किसी व्यक्ति से बातचीत में अंगुली नहीं दिखाएँ. ज़रूरी ही पड़ जाए तो पूरे हाथ से इशारा करें. बातचीत में नाकामी, ग़रीबी या मौत के ज़िक्र से हांगकांग से आया पर्यटक आहत महसूस कर सकता है.

संयुक्त अरब अमीरात के किसी पर्यटक से ये नहीं कहें कि उसे क्या करना है...वो बुरा मान जाएगा.

दक्षिण अफ़्रीका के किसी व्यक्ति से मुलाक़ात हो तो उसके सामने भूल कर भी अपने अंगूठे को दो अंगुलियों के बीच नहीं दबाएँ क्योंकि इसे वो अश्लील इशारे के रूप में लेगा.

किसी ब्राज़ीलियन से उम्र, वेतन या शादी जैसी व्यक्तिगत बातें कभी नहीं पूछें. किसी ब्राज़ीलिन को अर्जेंटीनीयिन नहीं कहें. दोनों देशों के बीच बहुत प्रतिद्वंद्विता है.

इसी तरह कनाडा का कोई व्यक्ति ख़ुद को अमरीकी कहे जाने पर अपमानित महसूस कर सकता है.

मेक्सिको के किसी पर्यटक के साथ बातचीत में ग़रीबी, दूसरे ग्रह के जीव, भूकंप या मेक्सिको और अमरीका के बीच 1845 में हुई लड़ाई का ज़िक्र नहीं करें.

यदि 'थैंक्यू' कहने पर कोरियाई पर्यटक 'नो-नो' कहे तो घबराएं नहीं क्योंकि इस स्थिति में नहीं-नहीं का मतलब हुआ- यू आर वेलकम!

भारतीयों के बारे में भी विजिटब्रिटेन की गाइड में कई बातें कही गई हैं. जैसे-

किसी भारतीय से पहली बार मिल रहे हों तो उन्हें छूने या उनके ज़्यादा निकट जाने से बचें. यदि कोई भारतीय ज़ोरज़ोर से बोलते हुए नज़र आए या विनम्र नहीं दिख रहा हो, तो घबराएँ नहीं...धैर्य रखें क्योंकि भारतीय आमतौर पर भीड़ और शोरगुल वाली पृष्ठभूमि से आते हैं.

वैसे भारतीयों के बारे में गाइड में एक अच्छी बात का भी उल्लेख है कि यदि चीज़ें व्यवस्थित दिख रही हों तो भारतीय इस बात की खुल कर तारीफ़ करने से पीछे नहीं हटते.

संबंधित समाचार