फ़ेसबुक की तस्वीर पर ग़ुस्सा

Image caption फ़ेसबुक पर इस तस्वीर की निंदा हुई है

इसराइल की एक पूर्व महिला सैनिक की इस बात पर निंदा हुई है कि उसने फ़ेसबुक पर अपनी वो तस्वीरें छापी हैं जो उसने फ़लस्तीनी क़ैदियों के सामने खड़े होकर खिंचवाई थीं.

ईडेन एबर्जी नामक इस महिला सैनिक ने फ़ेसबुक पर एक अलबम लगाया है जिसका शीर्षक है -द आर्मी:द बेस्ट डेज़ ऑफ़ माइ लाइफ़.

सेना के अधिकारियों ने इस महिला सैनिक के इस व्यवहार को शर्मिंदा करने वाला बताया है और कहा है कि वो मामले की जांच करेंगे.

फ़लस्तीनी संगठनों ने कहा है कि ये तस्वीरें अपमानजनक हैं और ये कब्ज़ा करने वालों की मानसिकता को दर्शाता है.

इन तस्वीरों में से एक में ईडेन एबर्जी तीन फ़लस्तीनी क़ैदियों के सामने मुस्कुराती हुई खड़ी दिखती हैं. इन क़ैदियों के हाथ बंधे हुए हैं और आंखों पर पट्टी बंधी हुई है.

एक दूसरी तस्वीर में ईडेन फ़लस्तीनी क़ैदियों का मुआयना कर रही हैं.

ईडेन एबर्जी सेना में अपना कार्यकाल पूरा कर सेना को अलविदा कह चुकी हैं इसलिए अभी यह स्पष्ट नहीं है कि उनके ख़िलाफ़ अनुशसनात्मक कार्रवाई होगी या नहीं.

सेना के एक प्रवक्ता ने बताया है कि इस घटना से संबंधित सभी क़ागज़ात ईडेन एबर्जी के कमाण्डर को दे दिए गए हैं.

सेना के प्रवक्ता ने कहा है कि ये एक सैनिक का शर्मिंदा करने वाला व्यवहार है.

फ़लस्तीनी प्रवक्ता घस्सन ख़ातिब ने कहा है कि "इसराइल ने फ़लस्तीनी क्षेत्र पर जो क़ब्ज़ा किया हुआ है वो अनुचित और अनैतिक है और ये तस्वीरें उसी का प्रमाण हैं."

संबंधित समाचार