कांगो में भारतीय सैनिक मारे गए

Image caption कांगो में चार हज़ार भारतीय सैनिक तैनात हैं

अफ्रीकी देश डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ़ कांगो विद्रोहियों ने तीन भारतीय शांति सैनिकों को मार डाला है.

भारतीय सैनिक कांगो में संयुक्त राष्ट्र की ओर से शांति स्थापित करने के लिए तैनात किए गए हैं.

भारतीय सेना के प्रवक्ता ने बताया है कि ये सैनिक आम नागरिकों के एक समूह की मदद कर रहे थे तभी तलवारों से लैस दर्ज़नों लोगों ने उन पर हमला कर दिया.

बताया गया है कि हमलावर माइ माइ नाम के एक हथियारबंद गुट के सदस्य थे. माइ माइ गुट को कांगो में अशांति के लिए लंबे समय से ज़िम्मेदार ठहराया जाता रहा है.

भारतीय सेना के प्रवक्ता का कहना है कि हमले की वजह अभी तक स्पष्ट नहीं है.

भारतीय सेना का कहना है कि किरूंबा शहर में पाँच आम नागरिक मंगलवार की आधी रात को सैनिक ठिकाने पर मदद माँगने के लिए आए थे, अभी भारतीय सैनिक उनसे बात कर ही रहे थे कि पास के जंगल से निकलकर पचास लोगों के एक झुंड ने उन पर धावा बोल दिया.

भारतीय शांति सैनिकों ने हमलावरों को रोकने के लिए गोलियाँ चलाईं और विद्रोहियों को खदेड़ने में कामयाब भी रहे लेकिन इस संघर्ष में तीन सैनिक मारे गए और सात घायल हो गए.

कांगो में शांति स्थापना के संयुक्त राष्ट्र के अभियान के तहत भारत के चार हज़ार सैनिक वहाँ तैनात हैं, भारत के अलावा कई अन्य देशों के सैनिक वहाँ मौजूद हैं.

कांगो में दुनिया की सबसे बड़ी शांतिरक्षक सेना तैनात हैं जिसमें विभिन्न देशों के कुल 20 हज़ार सैनिक हैं.

कांगो में जिस तरह शांतिरक्षक सैनिकों पर हमले हो रहे हैं उन्हें देखते हुए उनकी आम नागरिकों की रक्षा करने की क्षमता पर ही सवाल उठाए जाने लगे हैं.

संबंधित समाचार