एड मिलिबैंड लेबर पार्टी के नए नेता बने

एड और डेविड मिलिबैंड
Image caption एड मिलिबैंड ने काँटे की टक्कर में अपने सगे भाई डेविड मिलिबैंड को लेबर पार्टी के नेता के चुनाव में हराया.

ब्रिटेन में लेबर पार्टी के नेतृत्व की लड़ाई में एड मिलिबैंड की जीत हुई है. पार्टी नेता के चुनाव में उन्होंने अपने भाई और विदेश मंत्री रहे डेविड मिलिबैंड को हराया.

एड मिलिबैंड को डेविड मिलिबैंड की तुलना में सिर्फ़ एक प्रतिशत वोट ज़्यादा मिले.

उन्होंने कहा कि लेबर पार्टी का जिम्मा अब एक नई पीढ़ी ने लिया है और उसे बदलना ही था.

ब्रिटेन में हुए चुनाव के बाद लेबर पार्टी की हार का जिम्मा लेते हुए पार्टी के नेता और तत्कालीन प्रधानमंत्री गॉर्डन ब्राउन ने पार्टी के नेता के पद से इस्तीफ़ा दे दिया थे.

तब से अबतक पार्टी के नेता का कार्यभार हैरियट हर्मन संभाल रहे थे.

चालीस वर्षीय एड मिलिबैंड हर्मन की जगह लेबर पार्टी का नेतृत्व संभालेंगे.

एड मिलिबैंड के बड़े भाई डेविड मिलिबैंड को लेबर सांसदों और पार्टी के सदस्यों का समर्थन मिला जबकि मज़दूर संगठन और इससे जुड़ी संस्थाओं के ज़्यादातर वोट एड को मिले.

बीबीसी के राजनीतिक संपादक निक रॉबिंसन का कहना है कि पहले तीन दौर के मतदान में डेविड मिलिबैंड आगे चल रहे थे लेकिन दूसरे उम्मीदवारों की हार के बाद जब वोटों को फिर से बाँटा गया तब उनके छोटे भाई एड मिलिबैंड जीत गए.

एड मिलिबैंड को 175,519 वोट मिले जबकि डेविड मिलिबैंड को 147,220 हासिल हुए.

परिणामों की घोषणा के बाद एड मिलिबैंड ने डेविड मिलिबैंड को गले से लगा लिया.

भविष्य की नीति

जीत के बाद दिए अपने भाषण में एड मिलिबैंड ने पार्टी के सदस्यों से कहा कि भविष्य में ज़रूरत पार्टी की एकता को बनाए रखते हुए नए सदस्य बनाने की है.

उनका कहना था कि इस तरह काम किया जाना चाहिए कि हज़ारों की संख्या में युवा पार्टी से जुड़ें और लेबर पार्टी को ब्रिटिश राजनीति की आवाज़ समझें.

एड मिलिबैंड ने कहा,'' हम चुनाव हारे और बहुत बुरी तरह हारे. देश को मेरा संदेश ये है कि मैं जानता हूँ कि हमने विश्वास खोया है, मैं जानता हूँ कि हमने जनता से संपर्क खोया, मैं जानता हूँ कि हमें बदलने की ज़रूरत है. आज एक नई पीढ़ी ने लेबर पार्टी की ज़िम्मेदारी संभाली है जो बदलाव की माँग को समझती है.''

चालीस वर्षीय एड मिलिबैंड 17 साल की उम्र में लेबर पार्टी के सदस्य बने थे.

वो 2005 से नॉर्थ डॉनकॉस्टर के सांसद हैं और इस साल मई के महीने में जब ब्रिटेन के चुनाव में लेबर पार्टी की हार हुई, तबतक वो गॉर्डन ब्राउन की सरकार में ऊर्जा और पर्यावरण मंत्री थे.

मिलिबैंड के पिता एक मार्क्सवादी बुद्धिजीवी हैं.

एड मिलिबैंड अपने परिवार के 20वें सदस्य हैं जिन्होंने लेबर पार्टी का नेतृत्व संभाला है.

संबंधित समाचार