नागरिकों को सावधानी बरतने की सलाह

पैरिस की आयफ़िल टावर
Image caption जापान ने अपने नागरिकों को यूरोप की यात्रा करते हुए सावधानी बरतने की सलाह दी है

जापान की सरकार ने अपने नागरिकों को चेतावनी दी है कि यूरोप में आतंकवादी हमलों का ख़तरा बढ़ गया है.

इसी तरह की चेतावनी ब्रिटेन और अमरीका जारी कर चुके हैं.

जापान के विदेश मंत्रालय ने अपने नागरिकों को आगाह किया है कि सार्वजनिक यातायात का इस्तेमाल करते हुए और पर्यटन स्थलों का दौरा करते हुए सावधानी बरतें.

सुरक्षा सूत्रों ने पिछले सप्ताह चेतावनी जारी की थी कि मुम्बई जैसे हमलों के षड़यंत्र हो रहे हैं.

अमरीकी प्रशासन ने कहा था कि फ़्रांस, जर्मनी और ब्रिटेन में आतंकवादी हमले हो सकते हैं.

अमरीकी विदेश विभाग ने रविवार को कहा था कि सरकारी और निजी हितों पर होने वाले हमलों में कई तरह की युक्तियों और हथियारों का इस्तेमाल हो सकता है.

ब्रिटेन के विदेश विभाग ने भी फ़्रांस और जर्मनी में हमलों के ख़तरे को गंभीर बताया है और कहा है कि ब्रिटेन में भी हमलों की आशंका बनी हुई है.

कोई ठोस प्रमाण नहीं

बर्लिन में आयोजित एक समाचार सम्मेलन में जर्मनी के गृहमंत्री टॉमस डि मेज़ेर ने कहा कि आतंकवादी हमला होने का कोई ठोस प्रमाण नहीं मिला है इसलिए डर फैलाने की ज़रूरत नहीं है.

उन्होने कहा कि इस गंभीर काल्पनिक ख़तरे को देखते हुए सुरक्षा बल चौकन्ने हैं.

फ़्रांस के अधिकारियों का कहना है कि देश में पहले से रैड एलर्ट मौजूद है और उसे और बढ़ाने की ज़रूरत नहीं है.

हाल में पैरिस की आयफ़िल टावर को बम के ख़तरे के कारण दो बार ख़ाली कराना पड़ा है.

पुलिस का कहना है कि पैरिस के दक्षिण पश्चिमी हिस्से से एक व्यक्ति को बम की धमकियां देने के संदेह में गिरफ़्तार किया गया है.

आयफ़िल टावर पर पुलिस उपस्थिति बढ़ा दी गई है लेकिन पर्यटकों का आना जाना कम नहीं हुआ है.

इटली के गृहमंत्री रोबर्तो मरोनी ने कहा है कि आतंकवादी हमलों का ख़तरा गंभीर बना हुआ है और सुरक्षा बल स्थिति पर नज़र रखे हुए हैं.

संबंधित समाचार