पाक अधिकारियों के ख़िलाफ़ इंटरपोल वारंट

मुंबई हमलों
Image caption मुंबई हमलों में 160 से अधिक लोग मारे गए थे

इंटरपोल ने मुंबई हमलों के सिलसिले में पाकिस्तानी सेना के दो अधिकारियों– मेजर समीर अली और मेजर इक़बाल की गिरफ़्तारी के लिए रेड कार्नर नोटिस जारी किए हैं.

इंटरपोल की वेबसाइट पर मौजूद जानकारी के मुताबिक़ दोनों का संबंध लाहौर से है और दोनों की उम्र तक़रीबन 45 साल है.

रेड कार्नर नोटिस के ज़रिये इंटरपोल अपने 188 सदस्य देशों को सूचित करता है कि किस व्यक्ति के ख़िलाफ़ किसी अदालत ने गिरफ़्तारी का वारंट जारी किया है.

सीबीआई के प्रेस अधिकारी आरके गौड़ ने कहा कि ये नोटिस नेशनल इंवेस्टीगेशन एजेंसी (एनआईए) की सलाह पर जारी किया गया है.

भारतीय एजेंसी एनआईए मुंबई हमलों की जाँच कर रही है और उसने दिल्ली की एक अदालत में पाकिस्तान के पाँच लोगों के ख़िलाफ़ गैरज़मानती वारंट हासिल किया है.

ख़बरें हैं कि दोनों अफसरों के नाम लश्करे तैबा से संबध रखने वाले डेविड हेडली से पूछताछ के दौरान सामने आए थे.

डेविड हेडली को अमरीका की पुलिस ने मुंबई हमलों के सिलसिले में गिरफ़्तार किया था.

इन अफ़सरों के अलावा इंटरपोल ने इलियास कश्मीरी, अब्दुर रहमान हाशिम और साजिद माजिद के ख़िलाफ़ भी नोटिस जारी किया है.

इन पाँचों के नाम उन दस्तावेज़ों में शामिल थे जो भारत ने मुंबई हमलों के संबध में पाकिस्तान को दिए थे.

जमात उल दावा के प्रमुख हाफिज़ सईद, अबु हमज़ा और ज़की उर रहमान लखवी के ख़िलाफ़ अगस्त में ही रेड कार्नर नोटिस जारी किए जा चुके हैं.

संबंधित समाचार