खनिकों का बाहर निकलना जारी, चिली में ख़ुशी की लहर

चिली में पहला खनिक ऊपर पहुँचा और राष्ट्रपति से मिला

ओसमान अराया (नीले हेल्मेट में) बाहर निकलने वाले छठे खनिक हैं.

चिली में सोने-तांबे की एक खान में लगभग 69 दिनों से फंसे 33 खनिकों को बाहर निकालने का महाभियान जारी है. अब तक 15 खनिकों को बाहर निकाला जा चुका है.

इस दौरान पहले खनिक जिन्हें बाहर निकाला गया वे है वे हैं 31-वर्षीय फ़्लोरेंसियो एवालोस, जो एक फ़ुटबॉल खिलाड़ी भी है और दो बच्चों के बाप हैं. जैसे ही वे बाहर निकले उनकी बच्ची उनसे लिपट गई.

क्लिक करें पूरे बचाव अभियान का ब्योरा पढ़ें - लाइव टेक्सट

चिली के राष्ट्रपति के साथ-साथ उनके परिजनों ने भी उन्हें गले लगाया है और घटनास्थल पर जश्न का माहौल है.

दूसरे खनिक का नाम है मारियो सेपुलवेदर जिन्होंने ज़बरदस्त उत्साह का परिचय देते हुए न केवल सभी से हाथ मिलाया और गले मिले बल्कि आसपास मौजूद राहतकर्मियों के साथ नारे लगाए. उनकी पत्नी भी घटनास्थल पर मौजूद थीं.

मुझे पता है कि चिली के हर परिवार की आखों में आज खुशी के आँसू होंगे. हमने वादा किया था कि कभी हार नहीं मानेंगे और हम अपना वादा निभा रहे हैं. मुझे पता है कि बाहर निकलने के बाद खनिक पहले जैसे नहीं रहेंगे, और चिली के लोग भी पहले जैसे नहीं रहेंगे

चिली के राष्ट्रपति सिबेस्टियन पिनियेरा

इस अभियान के तहत मशीनों से एक कैप्सूल को ज़मीन के नीचे उतारा जा रहा है कि और एक-एक करके खनिकों को बाहर निकाला जाएगा.

राष्ट्रपति भी घटनास्थल पर

ये घटना उत्तरी चिली के कैपियापो शहर के पास सैन होज़े खदान में घटी. इंजीनियर, अधिकारी, फँसे खनिकों के रिश्तेदारों के साथ-साथ चिली के राष्ट्रपति सिबेस्टियन पिनेरा भी घटनास्थल पर मौजूद हैं जहाँ ये अभियान चल रहा है.

एक खदान विशेषज्ञ को स्थितियों का जायज़ा लेने के लिए पहले खदान में उतारा गया और फिर वे पहले खनिक के साथ बाहर पहुँचे.

क्लिक करें (बीबीसी हिंदी पर बचाव अभियान का सीधा वीडियो प्रसारण - क्लिक करे)

उनका कहना था, "मुझे पता है कि चिली के हर परिवार की आखों में आज खुशी के आँसू होंगे. हमने वादा किया था कि कभी हार नहीं मानेंगे और हम अपना वादा निभा रहे हैं. मुझे पता है कि बाहर निकलने के बाद खनिक पहले जैसे नहीं रहेंगे, और चिली के लोग भी पहले जैसे नहीं रहेंगे."

अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपने संदेश में कहा है कि वे ख़ुद भी और अमरीकी लोग भी खनिकों के लिए प्रार्थना कर रहे हैं. उन्होंने ये भी कहा है कि जो अमरीकी विशेषज्ञ चिली के अधिकारियों को सहयोग दे रहे हैं, उन पर उन्हें गर्व है.

काम पूर्वनिर्धारित योजना के तहत हो रहा है. अधिकारियों का कहना है कि पहसे मानसिक रूप से सशक्त और वैसे भी सेहतमंद हैं, उन्हें सबसे पहले बाहर निकाला जाएगा. ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि यदि कुछ अप्रत्याशित होता है तो वह व्यक्ति उसका सामना कर सके.

दो भाइयों में से एक पहले निकला

क्लिक करें इस पूरे अभियान का पल-पल का हाल लाइव टेक्स्ट पर पढ़ें - क्लिक करें

जिन्हें पहले बाहर निकाला गया है वे है 31-वर्षीय फ़्लोरेंसियो एवालोस, जो एक फ़ुटबॉल खिलाड़ी भी हैं.

उनके भाई रेनान एवालोस भी खदान में फँसे हुए हैं. इस अभियान के अंत में शिफ़्ट सुपरवाइज़र 54-वर्षीय लुई उर्ज़ुया को बाहर निकाला जाएगा.

इन 69 दिन के कठिन दौर में उनके नेतृत्व की ख़ासी सराहना हुई है जब ये लोग बाक़ी की दुनिया से पूरी तरह कटे हुए थे. उस समय खनिकों के लिए केवल दो दिन का राशन था.

पूरे विश्व से लगभग एक हज़ार पत्रकार इस पूरे महाभियान को कवर करने और इसका सिलसिलेवार विवरण देने के लिए घटनास्थल पर पहुँचे हैं.

पहले खाली कैप्सूल को खदान के भीतर उतारा जा रहा है. चिली के खदान मंत्री लौरेंस गोलबोर्न के अनुसार इसके बाद एक राहतकर्मी को धीरे-धीरे नीचे उतारा जाता है और वे एक के बाद एक खनिकों को ऊपर भेजते हैं.

पहले ये काम मंगलवार मध्यरात्रि को शुरू होना तय हुआ था, लेकिन जब बचाव कैप्सूल के वास्तविक परिस्थितियों में परीक्षण का काम बिना किसी गड़बड़ी के संपन्न हो गया तो अधिकारियों ने बचाव अभियान को पहले शुरु करने का फ़ैसला किया.

कैसे चलेगा बचाव अभियान : क्रमवार विवरण

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.