आधे से ज्यादा खनिक बाहर निकले

चिली में पहला खनिक ऊपर पहुँचा और राष्ट्रपति से मिला

खुशी और भावुकता से भरे माहौल में एक-एक करके निकाले जा रहे हैं खनिक

चिली में खदान में फँसे 33 में से आधे से अधिक खनिकों को बाहर निकाल लिया गया है, पूरे देश में जश्न के माहौल के बीच बाक़ी लोगों को बाहर निकालने का काम जारी है.

पिछले 69 दिनों से खान में फँसे इन मज़दूरों को अब मेडिकल चेकअप के लिए ले जाया जा रहा है. देश के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा है कि "खनिकों का स्वास्थ्य सामान्य तौर पर ठीक ही है."

अब तक खनिकों को बाहर निकालने का काम योजना के मुताबिक चल रहा है, चिली के स्वास्थ्य मंत्री का कहना है कि अगर सब कुछ इसी तरह चलता रहा तो सभी खनिकों को 36 घंटे में बाहर निकाल लिया जाएगा, पहले माना जा रहा था कि इस काम में 48 घंटे लगेंगे.

पाँच अगस्त को रोज़मर्रा की तरह अपनी शिफ्ट पर काम करने गए मज़दूर उस समय अंदर फँस गए थे जब चट्टान खिसकने की वजह से उनके बाहर निकलने का रास्ता बंद हो गया था.

चिली की जनता ने दिखा है कि वो एकजुट होकर क्या कुछ कर सकते हैं, किसी भी देश की असली पहचान संकट की ऐसी घड़ियों में ही होती है

सबास्तिएन पिनेरा

मंगलवार की आधी रात के समय योजनाबद्ध तरीक़े से खनिकों को बाहर निकालने का काम शुरू हुआ, सबसे पहले फ्लोरेंसियो अवालोज़ बाहर आए, उनका स्वागत करने के लिए वहाँ उनके घर के लोग और राष्ट्रपति अपनी पत्नी के साथ मौजूद थे.

वहाँ मौजूद सैकड़ों लोगों में खुशी की लहर दौड़ गई और उन्होंने 'चिली ज़िंदाबाद' के नारे लगाए.

मौक़े पर मौजूद राष्ट्रपति स्बैस्तिएन पिनेरा ने कहा कि यह बहुत भावुक रात है जब अपने परिवार से बिछुड़े हुए लोग इतने दिनों बाद मिल रहे हैं.

उन्होंने कहा, "चिली की जनता ने दिखा है कि वो एकजुट होकर क्या कुछ कर सकते हैं, किसी भी देश की असली पहचान संकट की ऐसी घड़ियों में ही होती है."

सुनियोजित अभियान

राष्ट्रपति पिनेरा की निगरानी में बहुत ही सुनियोजित तरीक़े से खनिकों को निकाला जा रहा है, इन खनिकों को जान बचाने में कामयाबी की वजह से राष्ट्रपति की लोकप्रियता काफ़ी बढ़ गई है.

खान में फँसे मज़दूर राष्ट्रीय स्तर पर हीरो बन गए हैं और पिछले दो महीनों से देश की जनता उनके सकुशल बाहर निकलने के लिए प्रार्थना कर रही है.

राष्ट्रपति पिनेरा के विरोधियों का कहना है कि उन्होंने इस खान दुर्घटना का राजनीतिक लाभ उठाने की कोशिश की है.

चिली में सबसे अधिक लोगों को रोज़गार खनन के क्षेत्र में मिला हुआ है और देश की बड़ी आबादी उस पर निर्भर करती है, यही वजह है कि राष्ट्रपति ने खनिकों को बाहर निकालने में इतनी तत्परता दिखाई है.


अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपने संदेश में कहा है कि वे ख़ुद भी और अमरीकी लोग भी खनिकों के लिए प्रार्थना कर रहे हैं. उन्होंने ये भी कहा है कि जो अमरीकी विशेषज्ञ चिली के अधिकारियों को सहयोग दे रहे हैं, उन पर उन्हें गर्व है.

काम पूर्वनिर्धारित योजना के तहत हो रहा है. अधिकारियों का कहना है कि पहसे मानसिक रूप से सशक्त और वैसे भी सेहतमंद हैं, उन्हें सबसे पहले बाहर निकाला जाएगा. ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि यदि कुछ अप्रत्याशित होता है तो वह व्यक्ति उसका सामना कर सके.

कैसे चलेगा बचाव अभियान : क्रमवार विवरण

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.