चीन में खदान दुर्घटना में 20 की मौत

चीनी कोयला खनिक

चीन के हेनान प्रांत में कोयले की एक खान में हुए विस्फोट में 20 खनिकों की मौत हो गई है, जबकि 17 अन्य लापता हैं.

विस्फोट के बाद भी खदान में गैस की मात्रा सामान्य से कई गुना ज़्यादा होने के कारण बचाव कार्य प्रभावित हुआ है.

चिली की एक खदान से खनिकों को सुरक्षित बाहर निकाले जाने के मात्र दो दिन बाद चीनी खदान में हुई मौतों ने चीन के खनन सुरक्षा मानकों पर सवालिया निशान लगा दिया है.

हेनान प्रांत की जिस युझाऊ खदान में धमाका हुआ है, वह पिंग्यू कोल एंड इलेक्ट्रिक कंपनी की है.

अधिकारियों का कहना है कि शनिवार सुबह जब खदान में धमाका हुआ तो 239 खनिक खदान से सुरक्षित बाहर निकलने में सफल रहे. इस दुर्घटना में 20 खनिकों की मौत हो गई, जबकि 17 अन्य अब भी लापता हैं.

बचाव अभियान से जुड़े एक अधिकारी के अनुसार लापता खनिक खदान के किस हिस्से में हो सकते हैं, ये अभी स्पष्ट नहीं है.

गैस की मात्रा में बेहिसाब बढ़ोत्तरी

सरकारी मीडिया के अनुसार खदान में धमाका अचानक गैस की मात्रा बहुत बढ़ जाने के कारण हुआ. अधिकारियों ने गैस का नाम नहीं बताया गया है लेकिन आमतौर पर कोयला खदानों में विस्फोट के पीछे मिथेन गैस का हाथ होता है.

हाल के वर्षों में चीन की सरकार ने अनेक छोटी और अवैध खदानों को बंद करने की कार्रवाई की है. और इसका असर खदान दुर्घटनाओं में मौत के आंकड़ों पर भी दिख रहा है.

उदाहरण के लिए पिछले साल चीन में खदान दुर्घटनाओं में 2631 खनिकों की मौत हुई, जबकि 2002 में मरने वाले खनिकों की संख्या सात हज़ार से ज़्यादा थी.

लेकिन सुरक्षा मानकों की दृष्टि से अब भी चीन की खदानें दुनिया में सर्वाधिक ख़तरनाक मानी जाती हैं.

संबंधित समाचार