हेती में फिर आपदा की दस्तक

हेती
Image caption लाखों लोग अस्थायी शिविरों में रह रहे हैं

हेती में आने वाले तूफ़ान से चिंतित अधिकारियों ने हज़ारों लोगों से अपील की है कि अस्थायी शिविरों को छोड़कर चले जाए.

इस साल जनवरी में हेती में आए विनाशकारी भूकंप के बाद बड़ी संख्या में लोग अब भी कैंप में रह रहे हैं.

मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि ये तूफ़ान हेती के समय के मुताबिक़ शुक्रवार सुबह आ सकता है. हेती की राजधानी पोर्ट ओ प्रिंस में भारी बारिश शुरू हो गई है.

जानकारों का कहना है कि इस तूफ़ान के कारण कई अस्थायी कैंप नष्ट हो सकते हैं. लेकिन अधिकारियों की अपील के बावजूद कई लोग यहाँ से जाना नहीं चाहते.

तर्क

इन लोगों का तर्क है कि उनके पास कोई विकल्प नहीं है. सहायता एजेंसियों ने आपातकालीन कैंप बनाना शुरू कर दिया है. टॉमस नाम के इस तूफ़ान के कारण सेंट लूसा में 14 लोगों की जान जा चुकी है.

हेती में जनवरी में भूकंप आया था. उसके बाद से राजधानी पोर्ट ओ प्रिंस के पास बने अस्थायी शिविरों में क़रीब 13 लाख लोग रह रहे हैं.

स्वास्थ्यकर्मियों को आशंका है कि इस तीव्र तूफ़ान के कारण हो रही भारी बारिश के कारण हैज़े फैल सकता है.

हेती के राष्ट्रपति रेने प्रीवल ने राष्ट्रीय रेडियो पर अपने संदेश में लोगों से ऐहतियात बरतने और शिविरों को ख़ाली करने की अपील की.

हालाँकि उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि अधिकारियों के पास पर्याप्त स्थानों की कमी है.

संबंधित समाचार