'अमरीका सैनिक कार्रवाई कम करे' करज़ई

हामिद करज़ई

अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति ने अमरीका से सैन्य अभियान कर करने को कहा

अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति हामिद करज़ई ने कहा है कि अमरीका को ऐसे सैन्य अभियान कम कर देने चाहिए जिनसे देश का जनजीवन अस्त-व्यस्त होता है.

अमरीकी अख़बार 'वॉशिंगटन पोस्ट' को दिए एक इंटरव्यू में राष्ट्रपति करज़ई ने कहा कि विशिष्ट बलों को रात के छापे बंद कर देने चाहिए क्योंकि उनसे अफ़ग़ान लोगों में आक्रोश बढ़ता है और विद्रोहियों के प्रति समर्थन को बल मिलता है.

श्री करज़ई की ये टिप्पणियां अफ़ग़ानिस्तान में तैनात अमरीकी कमांडर जनरल डेविड पैत्रिऑस को पसंद नहीं आएंगी क्योंकि ऐसे छापे उनकी रणनीति का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं.

अमरीका का तर्क है कि अफ़ग़ानिस्तान में 30,000 और सैनिकों की तैनाती के बाद से विद्रोही गतिविधियां कमज़ोर पड़ी हैं.

तालेबान का हमला

तालेबान चरमपंथियों ने अफ़ग़ानिस्तान के पूर्वी शहर जलालाबाद के हवाईअड्डे के पास स्थित नेटो के एक सैनिक अड्डे पर हमला किया है.

इस हमले में आठ चरमपंथी मारे गए जिनमें से एक ने आत्मघाती पेटी पहनी हुई थी.

तालेबान ने इस हमले की ज़िम्मेदारी स्वीकार की है.

वो हवाईअड्डे में दाख़िल हुए और कुछ ने ख़ुद को विस्फोटकों से उड़ा लिया.

ज़बीउल्लाह मुजाहिद, तालेबान के प्रवक्ता

नेटो के नेतृत्व वाले अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा सहायता बल या आइसैफ़ का कहना है कि नंगहार प्रांत स्थित इस अड्डे पर ये हमला स्थानीय समयानुसार सुबह साढ़े पांच बजे शुरु होकर दो घंटे तक चला.

प्रत्यक्षदर्शियों ने धमाकों की आवाज़ सुनी और उस इलाक़े से धुंआ उठता देखा.

आइसैफ़ का कहना है कि उनके सैनिकों ने अफ़ग़ान सैनिकों के साथ मिलकर हमले का जवाब दिया और हैलिकॉप्टरों को भी सहायता के लिए बुलाया गया.

तालेबान के प्रवक्ता ज़बीउल्लाह मुजाहिद ने कहा कि हमले में 14 आत्मघाती बम हमलावरों ने हिस्सा लिया था.

उन्होने एएफ़पी समाचार एजेंसी को बताया, वो हवाईअड्डे में दाख़िल हुए और कुछ ने ख़ुद को विस्फोटकों से उड़ा लिया.

बाद में कुंदूज़ प्रांत में एक मोटर साइकिल पर लगे बम के फटने से दो पुलिसकर्मी और छ आम नागरिक मारे गए.

ये हमला इमाम साहेब ज़िले के एक भीड़ भरे बाज़ार में हुआ जिसमें 18 लोग घायल भी हुए.

दक्षिणी अफ़ग़ानिस्तान में एक अन्य हमले में नेटो के तीन सैनिक मारे गए.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.