'लश्कर और आईएसआई पर मुक़द्दमा'

बेबी मोशे अपनी आया के साथ
Image caption बेबी के माता-पिता मुंबई हमलों में मारे गए थे.

एक अमरीकी समाचार पत्र के अनुसार मुंबई में नवंबर 2008 में हुए हमलों में मारे गए एक रब्बी और उसकी गर्भवती पत्नी के परिजनों ने पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी इंटर सर्विसज़ इंटेलिजेंस और लश्कर-ए-तैबा के ख़िलाफ़ एक अमरीकी अदालत में हत्या का मामला दर्ज किया है.

अमरीकी नागरिक रब्बी गेवरिएल नोआ हॉल्टज़बर्ग और उनकी पत्नी रिवका मुंबई के एक यहूदी केंद्र पर हुए हमले में मारे गए थे.

उनकी हत्या उनके दो वर्षीय पुत्र के सामने की गई थी. उनके पुत्र मोशे को उसकी नैनी सैंड्रा ने बचाया था.

अमरीकी अख़बार न्यूयॉर्क पोस्ट के अनुसार आईएसआई और लश्कर-ए-तैबा के ख़िलाफ़ हत्या का मुकद्दमा मोशे के दादा ने दायर किया है.

हॉल्टज़बर्ग परिवार की ओर से मुक़द्दमा दायर करने वाले वकील जेम्स क्रिंडलर ने न्यूयॉर्क पोस्ट से कहा, "ज़ाहिर है पाकिस्तान अफ़गानिस्तान में चल रहे युद्ध में अमरीका का सहयोगी है. हांलाकि पाकिस्तान हमसे सहयोग करता है लेकिन आईएसआई ने लश्कर-ए-तैबा का प्रयोग अपने मक़सदों के लिए किया है."

न्यूयॉर्क पोस्ट के मुताबिक जेम्स क्रिंडलर ने 1998 में पैन एम विमान दुर्घटना के मामले में भी लिबिया की सरकार और उसकी ख़ुफ़िया एजेंसी के ख़िलाफ़ मुक़द्दमा किया था. पैन एम विमान पर हुए चरमपंथी हमले में 270 लोग मारे गए थे.

संबंधित समाचार