'असांज की हत्या कर दो'

कनाडा के प्रधानमंत्री के सलाहकार टॉम फ्लेनेगन ने विकीलीक्स मामले में कहा है कि इसके संस्थापक जूलियन असांज की हत्या कर दी जानी चाहिए.

सीबीसी के एक टीवी कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति ओबामा को शायद ड्रोन का या किसी और चीज़ का इस्तेमाल करना चाहिए ताकि असांज से छुटकारा पाया जा सके.

प्रोफ़सर टॉम फ्लेनेगन का कहना था कि ऐसे दस्तावेज़ लीक नहीं होने चाहिए थे.

सऊदी अरब और ईरान से संबंधित दस्तावेज़ों के बारे में उनका कहना था कि विकीलीक्स ने जो ख़ुलासे किए हैं उस वजह से युद्ध भी छिड़ सकता है.

विकीलीक्स के कागज़ातों के मुताबिक सऊदी अरब के शाह ने अमरीका से ईरान पर हमला करने का अनुरोध किया था और उनके परमाणु कार्यक्रमों को ख़त्म करने की अपील की थी.

जब टीवी कार्यक्रम के एंकर ने टोककर कहा कि शायद प्रोफ़सर टॉम फ्लेनेगन बहुत कड़ी टिप्पियाँ दे रहे हैं तो उनका कहना था कि वे खुलकर और दिलेरी से बात करने के मूड में हैं.

कार्यक्रम के अंत में प्रोफ़सर टॉम फ्लेनेगन का कहना था कि अगर असांज ग़ायब हो जाते हैं तो उन्हें दुख नहीं होगा.

विवाद

विकीलीक्स द्वारा लीक किए गए दस्तावेज़ों के बाद से इन्हें लेकर पूरी दुनिया में बहस छिड़ी हुई है.

लीक हुए दस्तावेज़ों में कई हैरान करने वाली बातें छपी हैं. जैसे विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने संयुक्त राष्ट्र नेतृत्व की जासूसी के लिए अमरीकी अधिकारियों को निर्देश दिए या फिर ईरान उत्तर कोरिया रॉकेट हासिल करने की कोशिश में है ताकि लंबी दूरी की मिसाइलों के लिए इस्तेमाल हो सके.

विकीलीक्स ये भी छापा है कि ग्वांतानामो बे क़ैदी शिविर को खाली करने पर मोल-भाव हुआ. स्लोवेनिया के राजनयिकों से तो यहाँ तक कहा गया है कि अगर वे राष्ट्रपति बराक ओबामा के साथ बैठक चाहते हैं तो उन्हें एक रिहा क़ैदी को लेना पड़ेगा.

विकीलीक्स के इन दस्तावेज़ों में विश्व के कई नेताओं के बारे में निजी जानकारियां भी शामिल हैं.

संबंधित समाचार