भारत के साथ साझेदारी बढ़ाएंगे सार्कोज़ी

फ्रांस के राष्ट्रपति निकोलस सार्कोज़ी की आगामी भारत यात्रा से पहले फ्रांसीसी दूतावास के वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि फ्रांस के लिए भारत एक वैश्विक साझीदार है और कई क्षेत्रों में भारत विश्व शक्ति के रुप में उभर चुका है.

निकोलस सार्कोज़ी की यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच सैन्य सहयोग, आतंकवाद के ख़िलाफ़ संघर्ष और असैनिक परमाणु सहयोग जैसे मुद्दों पर ख़ासा ध्यान दिया जाएगा

निकोलस सार्कोज़ी चार दिसंबर को बंगलौर से अपने भारत दौरे की शुरुआत करेंगे.

इस यात्रा पर निकोलस सार्कोज़ी सात मंत्रियों समेत 60 लोगों के दल के साथ आ रहे हैं.

इस यात्रा पर उनकी पत्नी कार्ला ब्रूनी भी साथ आ रही है. वो उनकी पहली भारत यात्रा में उनके साथ नहीं थी.

फ्रांसीसी दूतावास के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि भारत वैश्विक शक्ति के तौर पर अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं के सुधार में अहम भूमिका निभा सकता है.

Image caption कार्ला ब्रूनी भी इस दौरे में उनके साथ आ रही हैं

जब उनसे पूछा गया कि क्या फ्रांस सुरक्षा परिषद की स्थाई सीट के लिए भारत की दावेदारी का समर्थन करता है, तो अधिकारी ने कहा कि फ्रांस पहला देश है जिसने भारत को परमाणु क्षेत्र में अलग थलग करने का विरोध किया था.

फ्रांसीसी कंपनी अरेवा के भारत को परमाणु बिजलीघर मुहैया करवाए जाने पर चल रही बातचीत की प्रगति के बारे में दूतावास अधिकारी ने कहा कि दोनों पक्षों के बीच बात चल रही है.

उनका कहना था कि परमाणु उत्तरदायित्व को लेकर फ्रांस को कुछ शंकाए है और फ्रांस चाहता है कि कंपनियों का उत्तरदायित्व अंतरराष्ट्रीय मानकों के हिसाब से हो ताकि उनकी कंपनियों को क़ानूनी सुरक्षा मुहैया करवाई जा सके.

बंगलौर में निकोलस सार्कोज़ी भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान सगंठन (इसरो) जाएंगे जहाँ वो इसरो और फ्रांस की अंतरिक्ष एजेंसी सीएनइएस के संयुक्त रुप से विकसित किए गए सेटेलाइट का निरीक्षण करेंगे.

चार दिसंबर को वो अपनी निजी यात्रा पर आगरा जाएंगे और अगले दिन वो ताजमहल और फतेहपुरी सीकरी देखेगें और शाम को दिल्ली पहुँचेगें.

पाँच दिसंबर को भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने उन्हें रात्रि भोज पर आमंत्रित किया है.

छह दिसंबर को निकोलस सार्कोज़ी भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह समेत अन्य नेताओं से औपचारिक बातचीत करेंगे और मीडिया को संबोधित करेंगे.

सात दिसंबर को वो मुंबई हमलों में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि देगे और उद्योगपतियों को संबोधित करेंगे.

संबंधित समाचार