चीन ने किया गूगल पर हमला: विकीलीक्स

Image caption गूगल को मजबूर होकर चीन से हटना पड़ा था.

विकीलीक्स ने एक और सनसनीख़ेज़ रिपोर्ट छापी है जिसमें कहा गया है कि जनवरी में इंटरनेट कंपनी गूगल पर हुए साइबर हमले के पीछे चीन के एक वरिष्ठ अधिकारी का हाथ था.

विकीलीक्स वेबसाइट के अनुसार गूगल सर्च इंजन के ज़रिए ढूंढे गए कुछ लेखों में अपनी आलोचना देखकर ये वरिष्ठ अधिकारी इतने नाराज़ हुए कि उन्होंने गूगल को हैक कर देने का आदेश दे दिया.

अधिकारी के बारे में कहा गया है कि ये चीनी कम्यूनिस्ट पार्टी की पोलिटब्यूरो के महत्वपूर्ण सदस्य हैं.

इस घटना के बाद गूगल को चीन से बाध्य होकर हटना पड़ा था.

बीबीसी संवाददाता निक चाइल्डस का कहना है कि ये जानकारी एक बार फिर से उस सोच को रेखांकित करती है कि चीन इंटरनेट को लेकर काफ़ी संवेदनशील है.

साथ ही जब गूगल की हैकिंग हुई थी तो जो संदेह थे चीन के सरकारी तंत्र पर उनको भी काफ़ी बल मिला है विकीलीक्स की इस रिपोर्ट से.

विकीलीक्स के ज़रिए लीक हो रहीं अमरीकी राजनयिकों की भेजी रिपोर्टों से पता चला है कि एक विश्वस्त सूत्र ने बीजिंग में अमरीकी दूतावास को बताया कि गूगल पर हमला एक गुप्त अभियान के तहत किया गया और ये फ़ैसला पूरी तरह से राजनीतिक था.

अमरीकी राजदूतों का कहना है कि ये स्पष्ट नहीं था कि देश के सर्वोच्च नेतृत्व, यानि राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को इस की सूचना पहले से थी या नहीं.

चीनी अधिकारियों ने अमरीकी सरकार से ये मांग भी की थी कि वो गूगल से कहकर चीनी फ़ौज और उसके अन्य ठिकानों की जो तस्वीरें हैं गूगल अर्थ नामक वेबसाइट पर उनके पैनापन को कम करे यानि वो उतनी साफ़ नहीं दिखें जितनी दिख रही थीं.

संबंधित समाचार