असांज का खाता 'फ़्रीज़', वारंट जारी

जूलिएन असांज
Image caption 'पेपाल' और 'अमेज़न' जैसे इंटरनेट दिग्गजों ने पहले ही असांज से नाता तोड़ लिया है.

स्विटज़रलैंड के पोस्ट ऑफ़िस बैक 'पोस्टफ़ाइनेंस' ने गोपनीय जानकारी प्रकाशित करने वाली वेबसाइट विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज के खाते को 'फ़्रीज़' कर दिया है यानी अब इस खाते में कोई लेन-देन संभव नहीं होगा.

विकीलीक्स का कहना है कि इस खाते में 31 हज़ार यूरो जमा हैं.

विकीलीक्स ने अमरीका के सैकड़ों गोपनीय कूटनीतिक संदेशो को अपनी वेबसाइट पर डालकर अमरीकी सरकार को क्रोधित किया है. 'पेपाल' और 'अमेज़न' जैसी कई बड़ी इंटरनेट कंपनियों ने विकीलीक्स से अपना नाता पहले ही तोड़ लिया है.

वारंट ब्रिटेन पहुंचा

Image caption सूत्रों के अनुसार 'यूरोपीय गिरफ़्तारी वारंट' सोमवार दोपहर ब्रिटेन पहुंच गया है.

इसीबीच जूलियन असांज को गिरफ़्तार करने के लिए एक वारंट ब्रितानी अधिकारियों के पास पहुंच गया है.

बीबीसी को स्रोतों ने बताया है कि असांज को पकड़ने के लिए एक 'यूरोपीय गिरफ़्तारी वारंट' सोमवार दोपहर ब्रिटेन पहुंचा.

स्वीडन में जांचकर्ता एक बलात्कार के आरोप के मामले में असांज से पूछताछ करना चाहते हैं. जूलियन असांज पहले ही इस आरोप का खंडन कर चुके हैं.

माना जा रहा है कि जूलियन असांज के दक्षिण-पूर्व इंग्लैंड में कहीं छिपे हुए हैं.

बीबीसी के सुरक्षा संवाददाता फ़्रैंक गार्डनर के अनुसार जैसे ही उनके छिपने का स्थान पता चलता है कि उन्हें 24 घंटे की भीतर एक मेजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया जाएगा जिसके बाद असांज को स्वीडन में प्रत्यर्पित किए जाने की कार्रवाई शुरू होगी.

खाता बंद

Image caption 'पोस्टफ़ाइनेंस' के खाते में 31 हज़ार यूरो जमा हैं. अब इस खाते में कोई लेन-देन संभव नहीं हो सकेगा.

स्विटज़लैंड में 'पोस्टफ़ाइनेंस' में विकीलीक्स के खाते में लेन-देन पर रोक लगना, विकीलीक्स के लिए ताज़ा झटका है.

'पोस्टफ़ाइनेंस' ने अपनी वेबसाइट पर खाते में रोक लगाने की वजह देते हुए लिखा है कि असांज ने खाता खोलते वक़्त अपने निवास स्थान की ग़लत जानकारी दी थी.

'पोस्टफ़ाइनेंस' के अनुसार असांज ने जिनेवा को अपना निवास स्थान बताया था और पड़ताल के बाद पता चला है कि ये जानकारी ग़लत है.

उधर विकीलीक्स ने एक बयान में कहा है कि जूलियन असांज को एक सप्ताह के भीतर एक लाख यूरो का नुकसान हुआ है.

वेबसाइट के अनुसार इंटरनेट के ज़रिए भुगतान करने वाली कंपनी 'पेपाल' ने असांज को एक जर्मन दानकर्ता फ़ाउंडेशन से मिलने वाले 60 हज़ार यूरो को भी रोक दिया है.

संबंधित समाचार