ब्रितानी पुलिस करेगी असांज से पूछताछ

जूलिएन असांज
Image caption वेबसाइट पर नए दस्तावेज़ आने के बाद से असांज मुसीबतें झेल रहे हैं

ब्रितानी पुलिस मंगलवार को विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज से पूछताछ कर सकती है. ये पूछताछ उनकी गिरफ़्तारी वारंट के सिलसिले में हैं जिसे स्वीडन ने जारी किया है.

हो सकता है कि इसके बाद उन्हें ब्रिटेन के किसी अदालत में पेश भी किया जाए.

जूलियन असांज पर लगे बलात्कार के एक आरोप के सिलसिले में ये वारंट जारी किया गया है. असांज इन आरोपों का खंडन करते हैं.

ब्रितानी पुलिस असांज से ऐसे समय में पूछताछ करने जा रही है जब वे बहुत सी मुसीबतों का सामना कर रहे हैं.

सोमवार को स्विट्ज़रलैंड में उनके बैंक खाते को सील कर दिया गया है.

जबकि विकीलीक्स पर हो रहे साइबर हमलों की वजह से उन्हें अपनी वेबसाइट का पता कई बार बदलना पड़ा है.

'पे-पाल' और 'अमेज़न' जैसी कई बड़ी इंटरनेट कंपनियों ने विकीलीक्स से अपना नाता पहले ही तोड़ लिया है.

उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों जूलियन असांज ने विकीलीक्स के ज़रिए लाखों अमरीकी गोपनीय दस्तावेज़ों का प्रकाशन किया है, जिससे अमरीका बेहद नाराज़ है.

मुक़दमे का रास्ता

अमरीका के एटॉर्नी जनरल एरिक होल्डर ने कहा है कि अमरीकी अधिकारी क़ानून की किताबों में वो रास्ता तलाश कर रहे हैं जिससे जूलियन असांज पर इस दस्तावेज़ों को सार्वजनिक करने के लिए मुक़दमा चलाया जा सके.

Image caption दुनिया भर में तैनात अमरीकी कूटनयिकों के संदेशों के सार्वजनिक होने से अमरीका की ख़ासी फ़ज़ीहत हुई है

समाचार एजेंसी एपी के अनुसार उनका कहना है कि जासूसी के लिए बना क़ानून उनमें से एक हो सकता है जिसके तहत विकीलीक्स पर मुक़दमा चलाया जा सके.

हालांकि उन्होंने यह जानकारी नहीं दी कि और कौन से क़ानून हो सकते हैं जिनके तहत असांज पर मुक़दमा चल सके. लेकिन कहा जा रहा है कि उन पर सरकारी दस्तावेज़ों के चोरी या चोरी किए गए सरकारी सरकारी दस्तावेज़ हासिल करने का मुक़दमा चल सकता है.

अमरीका का ये भी आरोप है कि विकीलीक्स ने रणनीतिक रुप से महत्वपूर्ण स्थानों की जानकारी प्रकाशित करके अल-क़ायदा को ऐसी एक सूची दे दी है जो उसके निशाने पर हो सकते हैं.

वारंट पहुँचा

इस बीच जूलियन असांज को गिरफ़्तार करने के लिए एक 'यूरोपीय गिरफ़्तारी वारंट' सोमवार दोपहर ब्रिटेन पहुंचा.

स्वीडन में जांचकर्ता एक बलात्कार के आरोप के मामले में असांज से पूछताछ करना चाहते हैं. जूलियन असांज पहले ही इस आरोप का खंडन कर चुके हैं.

माना जा रहा है कि जूलियन असांज के लंदन के ही किसी इलाक़े में छिपे हुए हैं.

जूलियन असांज के वकील मार्क स्टीफ़न ने कहा है कि उनके मुवक्किल के ख़िलाफ़ कोई आरोप पत्र दाख़िल नहीं किया गया है और वे इंतज़ाम कर रहे हैं कि आपसी सहमति के आधार पर जूलियन असांज से पुलिस की मुलाक़ात हो जाए.

Image caption इससे पहले विकीलीक्स ने इराक़ और अफ़ग़ानिस्तान युद्ध के दस्तावेज़ जारी किए थे

उन्होंने स्विडिश अभियोजन पक्ष की निंदा करते हुए कहा कि वे अगस्त महीने से स्वीडन के दूतावास से यह प्रस्ताव कर रहे हैं कि स्कॉटलैंड यार्ड में उनसे पूछताछ हो जाए जिसे वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के ज़रिए स्वीडन में रिकॉर्ड कर लिया जाए.

उन्होंने कहा, "अब तक स्वीडिश अधिकारी इस प्रस्ताव को ख़ारिज करते रहे हैं."

बीबीसी के सुरक्षा संवाददाता फ़्रैंक गार्डनर के अनुसार जैसे ही उनके छिपने का स्थान पता चलता है कि उन्हें 24 घंटे की भीतर एक मेजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया जाएगा जिसके बाद असांज को स्वीडन में प्रत्यर्पित किए जाने की कार्रवाई शुरू होगी.

खाता सील

उधर स्विटज़रलैंड के पोस्ट ऑफ़िस बैक 'पोस्ट फ़ाइनेंस' ने विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज के खाते को सील कर दिया है यानी अब इस खाते से कोई लेन-देन संभव नहीं होगा.

विकीलीक्स का कहना है कि इस खाते में 31 हज़ार यूरो की राशि जमा है.

'पोस्ट फ़ाइनेंस' ने अपनी वेबसाइट पर खाते में रोक लगाने की वजह देते हुए लिखा है कि असांज ने खाता खोलते वक़्त अपने निवास स्थान की ग़लत जानकारी दी थी.

'पोस्ट फ़ाइनेंस' के अनुसार असांज ने जिनेवा को अपना निवास स्थान बताया था और पड़ताल के बाद पता चला है कि ये जानकारी ग़लत है.

उधर विकीलीक्स ने एक बयान में कहा है कि जूलियन असांज को एक सप्ताह के भीतर एक लाख यूरो का नुकसान हुआ है.

वेबसाइट के अनुसार इंटरनेट के ज़रिए भुगतान करने वाली कंपनी 'पेपाल' ने असांज को एक जर्मन दानकर्ता फ़ाउंडेशन से मिलने वाले 60 हज़ार यूरो को भी रोक दिया है.

संबंधित समाचार