तमिलनाडु में बारिश, 30 की मौत

Image caption अक्टूबर से अब तक बारिश के चलते होने वाली मौतों की संख्या कम से कम 166 तक पहुंच चुकी है.

तमिलनाडु के कई इलाक़ों में पिछले तीन दिन से जारी भारी बारिश के चलते अब तक कम से कम 30 लोगों की मौत हो चुकी है.

अधिकारियों का कहना है कि ज़्यादातर मौतें इमारतें ढहने, बिजली गिरने और करंट लगने से हुई हैं.

भारी बारिश से कई ज़िलों में जन जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है.

चेन्नई, तिरुवल्लूर, श्रीपेरंबदूर और कांचीपुरम जैसे कई ज़िलों में लगातार बारिश के बाद राहत कार्य शुरु कर दिए गए हैं और लोगों को खाने का सामान पहुंचाने की कोशिश की जा रही है.

सरकार के आदेश से लगभग सभी इलाक़ों में स्कूलों में छुट्टी घोषित कर दी गई है. कई डिग्री कॉलेजों में हो रही परीक्षाएं भी रद्द कर दी गई हैं.

खाड़ी में दबाव

इस बीच मौसम विभाग ने राज्य के तटीय इलाकों में और बारिश होने की चेतावनी दी है. ऐसे में लोगों की परेशानी और चिंताएं बढ़ गई हैं. बारिश के डर से हज़ारों लोग अपने घर छोड़कर स्कूल-कॉलेजों में बने शरणार्थी शिविरों में रह रहे हैं.

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम करुणानिधि ने आला अधिकारियों को प्रभावित इलाक़ों का दौरा करने को कहा है और मंत्रिमंडल की बैठक बुलाई है.

बारिश से सबसे ज़्यादा प्रभावित होने वाले ज़िले हैं नागापट्टनम और कड्डलोर. अधिकारियों का कहना है कि बारिश के चलते फसलें तबाह हो गई हैं और सड़कें बैठ गई हैं.

अक्टूबर से अब तक बारिश के चलते होने वाली मौतों की संख्या कम से कम 166 तक पहुंच चुकी है.

मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि साल के इस समय दक्षिणी राज्यों में आमतौर पर बारिश होती है लेकिन इस अत्यधिक बारिश का कारण बंगाल की खाड़ी में पैदा हुआ दबाव है. खाड़ी के इस दबाव का असर श्रीलंका के कुछ इलाक़ों पर भी पड़ा है.

संबंधित समाचार