भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ महारैली

दिल्ली के राम लीला मैदान में भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ बुधवार को राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) की महारैली चल रही है.

भारतीय जनता पार्टी के नेता लालकृष्ण आडवाणी ने संसद का शीतकालीन सत्र ख़त्म होने के बाद कहा था कि एनडीए देश भर में दो महीने तक भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ रैलियाँ करेगा.

इसे देखते हुए दिल्ली में लोगों को यातायात समस्या से दो चार होना पड़ सकता है.

वैसे इस बात को लेकर आशंका जताई जा रही थी कि भारतीय जनता पार्टी की कौन सी सहयोगी पार्टियाँ रैली में हिस्सा लेंगी.

शिव सेना भाजपा से नाराज़ चल रही थी क्योंकि शिव सेना से अलग हुए राज ठाकरे ने कुछ दिन पहले भाजपा नेताओं से मुलाक़ात की थी.

भ्रष्टाचार

विपक्षी पार्टियों ने भ्रष्टाचार के मुद्दे पर यूपीए सरकार को घेरा हुआ है. 2जी स्पेक्ट्रम आवंटन में कथित भ्रष्टाचार के आरोप को लेकर इस बार संसद सत्र बिना किसी ख़ास कामकाज के ही समाप्त हो गया था.

विपक्षी पार्टियों की माँग है कि इस कथित घोटाले की जाँच के लिए जेपीसी गठित की जाए जबकि सरकार का कहना है कि पीएसी पहले से ही इसकी जाँच कर रही है और जेपीसी की ज़रूरत नहीं है.

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कुछ दिन पहले कहा था कि वे पीएसी के सामने पेश होने के लिए तैयार हैं लेकिन भाजपा समेत अन्य पार्टियों ने इस पेशकश को ठुकरा दिया था.

भ्रष्टाचार के मुद्दे पर सरकार को घेरने में सभी विपक्षी दल यूँ तो एकमत हैं लेकिन वामपंथी दलों ने भाजपा से दूरी बनाए रखी है.

वामदलों का आरोप है कि भाजपा भ्रष्टाचार पर दोहरे मापदंड अपना रही है क्योंकि वो कर्नाटक के मुख्यमंत्री येदुरप्पा के ख़िलाफ़ कोई क़दम नहीं उठा रही जिन पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.