50 अरब डॉलर का हुआ फ़ेसबुक

लगातार मुनाफ़ा कमा रही सोशल नेटवर्किंग साइट फ़ेसबुक को एक निजी कंपनी की ओर से 50 करोड़ डॉलर का निवेश मिला है. इसके बाद फ़ेसबुक अब 50 अरब डॉलर की कंपनी हो गई है.

यह निवेश अपने आप में ‘ईबे’ और ‘याहू’ जैसे इंटरनेट क्षेत्र के कई महारथियों की कुल परिसंपत्तियों से भी ज़्यादा है.

रुस की एक प्रौद्योगिकी कंपनी और निवेश बैंक गोल्डमैन सैशज़ का यह आर्थिक निवेश फ़ेसबुक को बढ़ने में चमत्कारी रुप से मदद करेगा. उम्मीद की जा रही है कि फ़ेसबुक अब शेयर बाज़ार में भी कदम रखेगा

मुनाफ़ा

रुस की एक प्रौद्योगिकी कंपनी और निवेश बैंक गोल्डमैन सैशज़ का यह आर्थिक निवेश फ़ेसबुक को बढ़ने में चमत्कारी रुप से मदद करेगा. उम्मीद की जा रही है कि फ़ेसबुक अब स्टॉक बाज़ार में भी कदम रखेगा.

फ़ेसबुक की स्थापना सात साल पहले की गई थी और दुनिया भर में इसके 50 करोड़ से ज़्यादा यूज़र्स हैं.

क्लिक करें फ़ेसबुक 50 करोड़ पार

इस आर्थिक सहायता का मदद से फेसबुक प्रतिभाशाली लोगों और छोटे व्यापारिक संगठनों को अपनी कंपनी से जोड़ेगा.

आर्थिक जगत में लंबे समय से इस बात की चर्चा है कि फ़ेसबुक के संस्थापक मार्क ज़करबर्ग कब स्टॉक जगत में कदम रखेंगे. हालांकि फ़ेसबुक के वरिष्ठ अधिकारियों ने साफ तौर पर कह दिया है कि उनकी कंपनी 2012 से पहले स्टॉक बाज़ार में कदम नहीं रखेगी.

दान

दिसंबर 2010 में फ़ेसबुक के संस्थापक 26 वर्षीय मार्क ज़करबर्ग ने अपनी संपत्ति का एक बड़ा हिस्सा दान करने का फैसला किया था.

क्लिक करें दान की अपनी संपत्ति

मार्क अब उन 17 लोगों में शामिल हैं जो वॉरेन बफ़ेट और बिल गेट्स की ओर से शुरु किए गए उस क्लब के सदस्य बन गए हैं जो अमरीका के सबसे अमीर लोगों को अपनी संपत्ति का कुछ हिस्सा दान करने के लिए प्रेरित करता है.

मार्क इस क्लब के सबसे कम उम्र सदस्य बने थे.

संबंधित समाचार