ईरान राजनयिकों को परमाणु संयंत्र दिखाएगा

ईरान का परमाणु संयंत्र
Image caption सुरक्षा परिषद के प्रतिबंधों के बावजूद ईरान ने अपना परमाणु कार्यक्रम जारी रखा हुआ है

ख़बरें हैं कि ईरान ने कई राजनयिकों को अपने परमाणु संयंत्र देखने के लिए आमंत्रित किया है.

ये राजनयिक अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (आईएईए), विएना से जुड़े हुए हैं और उन्हें अगले दो हफ़्तों के भीतर परमाणु संयंत्र देखने का आमंत्रण मिला है.

हालांकि इस आमंत्रण का कोई कारण नहीं बताया गया है लेकिन माना जा रहा है कि उसी समय ईरान को परमाणु कार्यक्रम पर संयुक्त राष्ट्र की ओर से प्रायोजित वार्ता के दूसरे दौर में भाग लेना है.

इस वार्ता में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के पाँचों स्थाई सदस्य और जर्मनी को भाग लेना है.

यह वार्ता इसलिए हो रही है क्योंकि ईरान अपने यूरेनियम संवर्धन कार्यक्रम को नहीं रोकना चाहता.

अमरीका सहित कई पश्चिमी देश मानते हैं कि ईरान इस यूरेनियम का उपयोग परमाणु हथियार बनाने के लिए कर सकता है. लेकिन ईरान कहता रहा है कि उसका परमाणु कार्यक्रम शांतिपूर्ण कार्यों के लिए ही है.

निरीक्षकों के अलावा

Image caption ईरान के परमाणु संयंत्रों पर आईएईए के निरीक्षक निगरानी रखते हैं

तेहरान के अधिकारियों ने अभी इस बात की पुष्टि नहीं की है कि उन्होंने कोई निमंत्रण दिया है.

लेकिन यूरोप से मिल रही ख़बरों के अनुसार कई राजनयिकों को आमंत्रित किया गया है.

एक ख़बर यह है कि ईरान के परमाणु संयंत्र का यह दौरा 15 जनवरी को होगा.

वास्तव में कौन लोग इस दौरे पर जाएँगे और उन्हें क्या दिखाया जाएगा यह अभी भी अस्पष्ट है.

ईरान के परमाणु संयंत्र पर वैसे भी आईएईए निगरानी रखता है लेकिन ऐसा लगता है कि इस यात्रा का मक़सद आईएईए के निरीक्षकों के अलावा दूसरे राजनयिकों को संयंत्र दिखाना है.

पिछले चार वर्षों में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने परमाणु कार्यक्रम में पारदर्शिता का अभाव बताते हुए ईरान पर चार बार प्रतिबंध लगाए हैं.

संबंधित समाचार