अमरीकी रक्षा बजट में भारी कटौती

अमरीकी सैनिक

अमरीकी रक्षा मंत्री रॉबर्ट गेट्स ने रक्षा बजट में व्यापक कटौतियों का प्रस्ताव रखा है.

यह अमरीका में हो रही कटौतियों का हिस्सा है.

यह प्रस्ताव रखते हुए उन्होंने कहा कि देश के वित्तीय संकट को देखते हुए यह कटौती ज़रुरी हो गई है.

उन्होंने कहा है कि सेना में सैनिकों की स्थाई संख्या में वर्ष 2015 के बाद 47 हज़ार की कटौती की जाएगी जबकि मरीन सैनिकों की संख्या 15 से 20 हज़ार कम की जाएगी.

इससे पहले ब्रिटेन ने भी अपने रक्षा बजट में भारी कटौती की घोषणा की थी.

कटौतियाँ

रॉबर्ट गेट्स ने रक्षा बजट में 78 अरब डॉलर की कटौती की घोषणा की है जिसमें वाहनों पर किए जाने वाले 13 अरब डॉलर का खर्च शामिल है.

यह कटौती रक्षा विभाग के पाँच साल की योजना का हिस्सा है और यह सौ अरब डॉलर की बचत की योजना का हिस्सा नहीं है, जिसकी घोषणा पहले की जा चुकी है.

Image caption गेट्स टैंक जैसे भारी भरकम वाहनों की उपयोगिता पर सवाल उठाते रहे हैं

उस बचत का उपयोग रक्षा विभाग में ही दूसरे कार्यक्रमों में किया जाएगा लेकिन अब जिस कटौती की घोषणा हुई है उससे रक्षा बजट की कम हो जाएगा.

यह योजना ऐसे समय में घोषित की गई है जब बजट घाटे की चिंता के बीच नई कांग्रेस ने कार्यभार संभाला है.

रॉबर्ट गेट्स ने गुरुवार को अपनी योजना की घोषणा करते हुए कहा कि वे उभयचर (पानी और ज़मीन दोनों पर चलने वाले) वाहनों की ख़रीद की योजना को रद्द कर रहे हैं.

ये वाहन हथियारबंद सैनिकों को ज़मीन पर तो लेकर चल ही सकते हैं, उन्हें समुद्र तट से 20-25 मील दूर तक भी ले जा सकते हैं.

रक्षा मंत्री गेट्स हमेशा ये सवाल उठाते रहे हैं कि आधुनिक युद्ध प्रणाली के दौर में टैंक और उभयचर वाहनों जैसे भारी भरकम सैन्य वाहन सेना का हिस्सा बने रह सकेंगे या नहीं.

इसके अलावा खर्चों की कटौती की जो अन्य योजनाएँ घोषित की हैं, उसमें एफ़-35 लड़ाकू विमानों की ख़रीदी में कटौती भी शामिल है. इन विमानों के तैयार होने और परीक्षण में लगातार विलंब हो रहा है.

संबंधित समाचार