भत्ते में धांधली: पूर्व सांसद को जेल

ब्रितानी संसद
Image caption ब्रिटेन में कुछ संसद सदस्यों की इस धोखाधड़ी से बहुत हंगामा मचा था

ब्रिटेन के एक पूर्व लेबर संसद सदस्य को अपने भत्तों के मद में धांधली करके 20 हज़ार पाउंड (लगभग 15 लाख रुपए) वसूल करने के आरोप में 18 माह जेल की सज़ा सुनाई गई है.

बरी नॉर्थ के सांसद, 61 वर्षीय डेविड चेटर ने पिछले ही महीने ही धांधली करने के तीन आरोप स्वीकार किए थे.

अदालत को बताया गया कि उन्होंने कंप्यूटर आदि से जुड़े एक ऐसे काम को अपने खर्चों में बताने के लिए झूठा बिल पेश किया और उन्होंने दो ऐसे मकानों के लिए किराया वसूल किया जो वास्तव में उनके परिवार का था और वे किराया ही अदा नहीं करते थे.

संसद सदस्यों को मिलने वाले खर्च के मामले में धांधली का मामला दो साल पहले सामने आया था. डेविड चेटर इस धांधली के मामले में जेल जाने वाले पहले व्यक्ति हैं.

धांधली

ब्रितानी संसद सदस्यों ने अपने खर्च के लिए मिलने वाले भत्तों के मद से जिस तरह से संसद से पैसे वसूल किए थे उससे पूरी दुनिया में ब्रितानी सांसदों की भद्द पिटी थी.

क़ानून के अनुसार सांसदों को अधिकार था कि वे अपने वाजिब खर्चों का ब्यौरा पेश करके संसद से यह राशि ले लें. लेकिन जब यह मामला सामने आया तो पता चला कि कुछ सांसदों ने दिखावटी बत्तखखाने से लेकर अपने कुत्ते के भोजन सभी को अपने खर्चों में शामिल करके उसकी वसूली कर ली.

Image caption डेविड चेटर को अब मुक़दमे का भारी भरकम खर्च भी वहन करना होगा

जनता के पैसों के दुरुपयोग के कुछ मामले तो इतने गंभीर थे कि वे अदालत तक भी पहुँच गए.

अदालत के इस फ़ैसले से उन लोगों की बातों को बल मिला है जो इस धांधली की ख़बरें अख़बारों तक पहुँचने से पहले ही सांसदों के खर्च के मामले को ज़्यादा पारदर्शी बनाने की वकालत कर रहे थे.

हालांकि इस धांधली को उजागर हुए दो बरस हो गए लेकिन अभी भी संसद के निचले सदन में इस बात पर रस्साकशी चल रही है कि इस व्यवस्था को किस तरह से ठीक किया जाए.

वैसे एक वैकल्पिक व्यवस्था लागू की गई है लेकिन सांसदों का कहना है कि नियम बहुत सख़्त हैं और बहुत समय लेते हैं.

इस धांधली के मामले में जेल की सज़ा पाने वाले पहले व्यक्ति बने हैं लेबर पार्टी के सदस्य और पूर्व सांसद डेविड चेटर.

लेकिन यह मामला अभी आने वाले कई महीनों तक सुर्खियों में रहेगा क्योंकि अभी पाँच और पूर्व संसद सदस्यों के मामले की सुनवाई होनी है.

ये पाँचों पूर्व सांसद अपने आपको निर्दोष बताते हैं.

संबंधित समाचार