करमापा के मठ से विदेशी मुद्रा बरामद

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption अधिकारी इस पैसे कि मूल स्रोत के बारे में जानने की कोशिश कर रहे हैं.

सुरक्षा अधिकारियों ने हिमाचल प्रदेश स्थित एक तिब्बती मठ पर छापा मार कर बड़ी संख्या में विदेशी धन ज़ब्त किया है.

इस सिलसिले में तिब्बतियों के एक धार्मिक नेता करमापा लामा के कथित सहयोगी को भी गिरफ़्तार किया गया है.

धर्मगुरु दलाई लामा के शरण स्थल धर्मशाला शहर में स्थित 17वें करमापा, उग्येन त्रिनले दोरजी के ट्रस्ट के कार्यालयों पर छापे मारे गए हैं. सुरक्षा अधिकारियों ने 24 घंटे के भीतर कई ठिकानों पर छापे मारे गए हैं.

पुलिस ने इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी इन छापों के दौरान कितना पैसा ज़ब्त किया गया है, हालांकि भारतीय मीडिया में आई खबरों के अनुसार इस मठ से हजारों अमरीकी डॉलर बरामद हुए हैं.

विदेशी मुद्रा

हिमाचल प्रदेश के पुलिस महानिदेश डीएस मिन्हास ने बताया कि इन छापों में राज्य पुलिस के अलावा केंद्रीय विभागों से जुड़े सुरक्षा अधिकारी भी शामिल थे.

उन्होंने बताया कि संबंधित अधिकारी इस पैसे कि मूल स्रोत के बारे में जानने की कोशिश कर रहे हैं.

मिन्हास के अनुसार यह पैसा भारत में गैर कानूनी ढंग से लाया गया और वह इस बात से अधिक चिंतित हैं कि इसमें चीनी मुद्रा भी शामिल है.

हालांकि तिब्बती सरकार का कहना है कि यह पैसा ज़मीन खरीदने के लिए जमा किया गया है और यह धन श्रद्धालुओं के दान के माध्यम से आया है.

ग़ौरतलब है कि भारत में शरणार्थियों के तौर पर रह रहे तिब्बतियों को भारत में ज़मीन खरीदने का अधिकार नहीं है.

धर्मशाला तिब्बतियों के धर्मगुरु दलाई लामा और तिब्बती सरकार की शरण स्थली है. यहां तिब्बतियों के कई बौद्ध मठ हैं और भारतभर में कई हजार तिब्बती रहते हैं.

संबंधित समाचार