संघर्ष में तीन लोगों की मौत, सैकड़ों घायल

काहिरा इमेज कॉपीरइट AP

मिस्र की सरकार ने कहा है कि काहिरा के तहरीर चौक पर हुए संघर्ष में तीन व्यक्ति की मौत हो गई है और छह सौ से ज़्यादा घायल हुए हैं.

बुधवार को एकाएक राष्ट्रपति होस्नी मुबारक समर्थकों के सड़क पर उतरने के कारण राजधानी काहिरा में स्थिति काफ़ी तनावपूर्ण है.

ताज़ा समाचार के मुताबिक़ तहरीर चौक पर प्रदर्शनकारियों की संख्या में कमी आई है लेकिन अब भी बड़ी संख्या में लोग मौजूद हैं और बीच-बीच में गोलियाँ चलने की आवाज़ें भी आ रही हैं.

सेना ने लोगों से अपील की है कि रात के कर्फ़्यू के मद्देनज़र वे घर लौट जाएँ. उप राष्ट्रपति उमर सुलेमान ने कहा है कि जब तक सरकार विरोधी प्रदर्शन रुक नहीं जाते, विपक्ष से बातचीत नहीं हो सकती.

तहरीर चौक पर होस्नी मुबारक समर्थकों और उनके विरोधियों के बीच झपड़ें हुईं. दोनों गुटों ने एक-दूसरे पर पत्थर फेंके. प्रदर्शनकारियों पर पेट्रोल बम से भी हमले की ख़बर है.

आलोचना

इस संघर्ष में बड़ी संख्या में लोग घायल हुए हैं. ख़ून से लथपथ घायलों की तस्वीरें टेलीविज़न पर देखी जा सकती हैं.

प्रदर्शनकारियों का आरोप है कि मुबारक समर्थकों के वेश में ये लोग पुलिसकर्मी हैं, जो उन्हें तहरीर चौक से खदेड़ने की कोशिश कर रहे हैं.

मिस्र में विपक्ष के प्रमुख नेता मोहम्मद अल बारादेई ने इस घटना की कड़ी आलोचना की है और कहा है ये आपराधिक सरकार की आपराधिक कार्रवाई है. उन्होंने सेना से अपील है कि वो लोगों की जान बचाने के लिए इस मामले में हस्तक्षेप करे.

अमरीका ने मिस्र में चल रही हिंसा की कड़ी आलोचना की है, तो संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की-मून ने कहा है कि शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों पर हिंसा को स्वीकार नहीं किया जा सकता. ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने इस घटना को निंदनीय बताया है.

संबंधित समाचार