मिस्र में बदलाव का वक़्त: ओबामा

काहिरा में प्रदर्शन इमेज कॉपीरइट AP

मिस्र में जनजीवन और अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने की सरकार की कोशिशों को फिर एक झटका लगा है. मिस्र स्टॉक एकस्चेंज में कामकाज को अगले 24 घंटे के लिए स्थगित कर दिया है.

काहिरा की सड़कों पर आवाजाही अब भी बाधित है और स्कूल बंद हैं. प्रदर्शनकारियों ने रविवार रात सेना के टैंको को रोके रखा ताकि वो उन्हें तहरीर चौक से खदेड़ न दें.

इस बीच अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि मिस्र के राष्ट्रपति होस्नी मुबारक के ख़िलाफ़ जनविद्रोह के बाद परिस्थितियाँ वापस पहले जैसी नहीं हो सकतीं.

ओबामा का कहना है कि मिस्र में बदलाव का वक़्त आ गया है.

एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में राष्ट्रपति ओबामा ने कहा कि राष्ट्रपति मुबारक जानते हैं कि रोज़ाना हो रहे विरोध प्रदर्शनों को देखते हुए उन्हें क्या करना है.

उनका कहना था कि ये स्पष्ट है कि मिस्र के लोग स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव चाहते हैं.

साथ ही ओबामा ने कहा कि विपक्षी गुट मुस्लिम ब्रदरहुड सहित किसी भी दल के पास बहुमत का समर्थन नहीं है.

ब्रदरहुड से बातचीत

इधर राजधानी काहिरा में सरकार विरोधी प्रदर्शन जारी हैं.

रविवार को मुस्लिम ब्रदरहुड सहित अन्य विपक्षी दलों ने सरकार के साथ बातचीत में हिस्सा लिया.

उल्लेखनीय है कि मुस्लिम ब्रदरहुड प्रतिबंधित संगठन है. 57 वर्ष पहले 1954 में मिस्र के तत्कालीन राष्ट्रपति नासिर की कथित हत्या की साजिश रचने के आरोप में ये प्रतिबंध लगाया गया था. हालांकि मुस्लिम ब्रदरहुड इससे इनकार करता आया है.

रविवार को बातचीत के बाद मुस्लिम ब्रदरहुड ने कहा कि सरकार ने राजनीतिक संकट समाप्त करने के लिए कोई विशेष प्रस्ताव नहीं रखे हैं.

अन्य विपक्षी दलों का भी कहना है कि जो प्रस्ताव सरकार ने रखे हैं वे नाकाफ़ी हैं.

रविवार को मिस्र के उपराष्ट्रपति उमर सुलेमान के साथ हुई बातचीत में छह विपक्षी गुटों ने हिस्सा लिया था.

इस बातचीत में सरकार ने संविधान में संशोधन करने के लिए समिति बनाने का प्रस्ताव रखा है.

ग़ौरतलब है कि राष्ट्रपति मुबारक़ तुरंत इस्तीफ़ा देने से पहले ही इनकार कर चुके हैं. उनका कहना है कि अगर वे अभी अपना पद छोड़ते हैं तो देश में अव्यवस्था फैल जाएगी.

इस्तीफ़ा देने के बजाय मुबारक़ ने सितंबर में होने वाले चुनाव में हिस्सा न लेने की घोषणा की है.

रविवार को क़रीब हफ़्ते भर बाद कई बैंक खुले. बैंकों के बाहर पैसे निकालने वालों की लंबी कतारें देखी गईं.

संबंधित समाचार