समुद्री लुटेरों को लेकर चेतावनी

सोमाली समुद्री लुटेरे इमेज कॉपीरइट apf

तेल ढोने वाले जहाज़ मालिकों की एक संस्था ने सरकारों से अपील की है कि वे हिंद महासागर में समुद्री लुटेरों की समस्या से निपटने के और उपाय करें वरना दुनिया भर में तेल की आपूर्ति बाधित हो सकती है.

संस्था का कहना है कि सोमाली समुद्री लुटेरे कम से कम 20 ज़ब्त किए गए जहाज़ों से इस इलाक़े में हमले कर रहे हैं.

जहाज़ मालिकों की यह चेतावनी एक सुपर टैंकर के अपहरण के बाद आई है जिसमें कम से कम 20 करोड़ डॉलर (क़रीब नौ सौ करोड़ रुपए) का तेल लदा हुआ है.

अपील

आईरीन एसएल नाम का यह जहाज़ खाडी़ से अमरीका के लिए रवाना हुआ था और रास्ते में ही इसका अपहरण कर लिया गया.

जोए एंजेलो इंटरनेशनल एसोसिएशन ऑफ़ इंडिपेंडेंट टैंकर्स ओनर्स (इंटरटैंको) के प्रमुख हैं.

उन्होंने कहा है कि तुर्की के ध्वज वाले जिस जहाज़ का अपहरण किया गया है कि वह अमरीका के एक दिन के तेल आयात का 20 प्रतिशत तेल ले जा रहा था.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स से हुई बातचीत में एजेंलो ने कहा, "हिंद महासागर में समुद्री लुटेरों की समस्या अब बेक़ाबू होती जा रही है."

उन्होंने कहा, "यदि हिंद महासागर के महत्वपूर्ण मार्ग में समुद्र लुटेरों की समस्या इसी तरह बनी रही तो इससे अमरीका और शेष दुनिया में तेल आपूर्ति बाधित हो जाएगी."

इंटरटैंको दुनिया के समुद्री जहाज़ों के बड़े हिस्से का प्रतिनिधित्व करता है.

आईरीन एसएल के अपहरण से पहले सोमाली लुटेरों ने एक इटैलियन तेल टैंकर का अपहरण कर लिया था.

समझौता

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption पिछले कुछ सालों में समुद्री लुटेरों ने करोड़ों डॉलर की फ़िरौती वसूल की है

सोमालिया के अर्ध स्वायत्तशासी क्षेत्र पंटलैंड के अधिकारियों का कहना है कि उन्होंने सेशल्स के अधिकारियों के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं जिसके अनुसार गिरफ़्तार किए गए सोमाली समुद्री लुटेरों को वापस सोमालिया लाया जा सकेगा.

इस समझौते में मोगादिशु की कामचलाउ सरकार और उससे अलग हुए सोमालिलैंड की सरकार भी शामिल है.

एक अनुमान है कि 740 समुद्री लुटेरे बारह देशों में पकड़े गए हैं, जिसमें सेशल्स भी शामिल है.

ताज़ा अपहरण से पहले कहा गया था कि सोमाली समुद्री लुटेरों ने कम से कम 29 पोतों का अपहरण कर अपने कब्ज़े में रखा है.

उनके कब्ज़े में कम से कम 681 कर्मचारी भी हैं.

इस तरह जहाज़ों का अपहरण करके फ़िरौती के रुप में समुद्री लुटेरों ने हाल के कुछ सालों में करोड़ों डॉलर बनाए हैं.

सोमालिया में वर्ष 1991 के बाद से कोई केंद्रीय सरकार नहीं है और इसकी वजह से अराजकता बढ़ी हुई है और इसके समुद्री तट समुद्री लुटेरों के लिए स्वर्ग बने हुए हैं.

संबंधित समाचार